World Tuberculosis Day – 24 March

world tuberculosis day : आज 24 मार्च के दिन हम सब मिलकर world tuberculosis day | विश्व तपेदिक (टीबी) दिवस मनाएंगे. यह दिवस काफी महत्वपूर्ण होता है. क्योंकि हम आपको बताना चाहते हैं कि यह बीमारी बहुत ही जानलेवा होती है. और लोगों को इस दिन के अवसर पर तपेदिक की बीमारी के बारे में जागरूक करना बहुत महत्वपूर्ण होता है. 

क्योंकि यह वैश्विक महामारी कभी भी लोगों की जान ले सकती है. और आज का यह दिन लोगों में इस बीमारी के जागरूकता को लेकर हमें अवलोकन कराता है. तपेदिक की बीमारी को टीबी के नाम से भी जाना जाता है. यह एक संक्रामक बीमारी होती है. जिसके कारण हमारे फेफड़े प्रभावित होते हैं. 

जब भी तपेदिक से संक्रमित व्यक्ति हमारे आसपास छींकता या खाँसता है. तब हमें यह बीमारी होने की संभावनाएं ज्यादा होती है. लेकिन हमारे आसपास ऐसे भी कई लोग हो सकते हैं. जिनमें आज तक टीवी के कोई लक्षण नहीं दिखाई दे रहे हो. क्योंकि हमें यह ध्यान रखना चाहिए कि इसके लिए कारण बैक्टीरिया कई बार कई वर्षों तक निष्क्रिय भी हो सकते हैं. 

इस बीमारी से संक्रमित व्यक्ति को खांसी और बुखार भी हो सकता है. कभी-कभी उन्हें खून की उल्टियां भी हो सकती है. इसी के साथ उनमें वजन घटने के और रात में पसीने आने के भी लक्षण दिखाई दे सकते हैं. पूरे विश्व भर में लगभग 1.8 बिलियन लोग टीबी से प्रभावित है. इनमें भी महिलाएं बच्चे एवं एचआईवी संक्रमित लोग इसके सबसे ज्यादा शिकार होते हैं.


world tuberculosis day ka itihas

world tuberculosis day | विश्व तपेदिक (टीबी) दिवस पर इसके इतिहास के बारे में जानेंगे. हम आपको बताना चाहते हैं कि 1800 के दशक में यह बीमारी बहुत ज्यादा फैली थी. और तभी इस बीमारी पर कुछ ज्यादा संशोधन ना होने के कारण बहुत सी जाने गई थी. 

सिर्फ संयुक्त राज्य अमेरिका में ही इस तपेदिक से 7 में से एक व्यक्ति अपनी जान गवा चुका था. लेकिन वक्त के साथ-साथ इस बीमारी पर भी संशोधन होने लगा. देखा जाए तो 24 मार्च 1982 के दिन तपेदिक एवं फेफड़े के रोग के खिलाफ यह दिवस मान्यता प्राप्त हुआ है. इस दिवस पर अंतर्राष्ट्रीय संघ ने इसे पालन करने का प्रस्ताव रखा था. 

और साथ ही डॉ. रॉबर्ट कोच इनके माइकोबैक्टेरियम ट्यूबरकुलोसिस की खोज के कारण ही इस दिवस को मनाया जाने लगा. इसके बाद विश्व स्वास्थ्य सभा एवं संयुक्त राष्ट्र ने भी इसी मान्यता दे दी थी. और लगभग 1998 तक 200 संगठनों ने इस दिन को मनाना शुरू कर लिया था.

world tuberculosis day kaise manaye

world tuberculosis day | विश्व तपेदिक (टीबी) दिवस पर इस दिन को कैसे मनाना है इसके बारे में अधिक जानकारी लेंगे. इस दिवस पर आपको अपने खुद के एवं आसपास के लोगों को उपचार के लिए प्रोत्साहित करना चाहिए. अगर आपके आसपास कोई देवी से प्रभावित व्यक्ति हो. 

तो उसे अस्पताल जाने के लिए भी मदद करनी चाहिए. अगर किसी व्यक्ति को इसके दवाई की उपलब्धता ना हो. तो आपको ऐसे जरूरतमंद लोगों को मदद जरूर करनी चाहिए. साथ ही आप उन लोगों के भी बारे में पढ़े या फिर सुने. जिन्होंने इस तपेदिक से छुटकारा पाया हो. क्योंकि आपके मन में लड़ने की ताकत उत्पन्न होना बहुत जरूरी होता है. 

साथ ही आपको रुजवेल्ट, नेल्सन मंडेला और टीना टर्नर जैसे लोगों के बारे में भी जानकारी लेनी चाहिए. साथ ही अपनी आपको किसी भी हाल में खुश रखने के लिए प्रयास करने चाहिए. अगर आप खुद के मन को शांत एवं प्रसन्न रख सकेंगे. तो कोई भी बीमारी आपका ज्यादा दिन तक साथ नहीं देगी. इस दिन को आप सोशल मीडिया पर भी #worldtuberculosisday को टैग करते हुए मना सकते हैं.


हमारा यह world tuberculosis day पर आधारित लेख अगर आपको पसंद आया हो और साथ ही आपने भी इस दिन के बारे में जानकारी जुटाली हो. तो हमें comment section में इसके बारे में जरूर बताएं. हमें आपकी कमेंट का इंतजार है.


इस तरह के विविध लेखों के अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज ssoftgroup लाइक करे.


WhatsApp पर दैनिक अपडेट मिलने के लिए यहाँ Join WhatsApp पर क्लिक करे

World Tuberculosis Day

Leave a Comment