Press "Enter" to skip to content

दिमाग खाना और दिमाग को खिलाना काफी अलग होता है

भाई तू दिमाग मत खा मेरा” ऐसा आपने अक्सर कहीं ना कहीं, किसिना किसी को बोलते हुए सुना होगा, या कभी आपको भी सुनना पड़ा होगा, अगर नहीं सुनना पड़ा तो आपकी यह एक कामयाबी है. दूसरी ओर ऐसे भी लोगों को देखा होगा जो अपने साथ-साथ दूसरों के दिमाग को भी फीड करते है, मतलब की खिलाते है.

अब ये बात पूरी तरह से आप पर है कि आपके दिमाग को क्या खिलाना चाहिए और क्या नहीं, यह सारी बाते हम आनेवाले लेख में देखेंगे. उससे पहले हम ये समझ लेते है कि हमें क्या बने रहना है, दिमाग खाने वाला या…दिमाग को खिलाने वाला!

आखिर सफल लोग सफल कैसे बनते है?

सफल लोग इसलिए सफल होते हैं क्योंकि वे प्रतिदिन अपने दिमाग को, अपने मन को कुछ न कुछ अच्छा खिलाते रहते हैं. वे अपने मन को अच्छी-अच्छी किताबो से या किसी ऑनलाइन लेख के माध्यम से खिलाते हैं. जैसे एक मजबूत शरीर को चरम स्थिति प्राप्त करने के लिए सही पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है, वैसे ही हमें जीवन के किसी भी क्षेत्र में अधिकतम सफलता प्राप्त करने के लिए सही जानकारी और ज्ञान की आवश्यकता होती है.

“५ साल बाद , आप क्या होंगे यह इस बात पर निर्भर करता है की आप प्रतिदिन क्या पढ़ते हो, कैसे लोगो के साथ रहना पसंद करते है और आपके लिए क्या अधिक महत्व रखता है”

आप जिन लोगों के साथ रहना पसंद करते हैं, और जिन लोगों को सुनते हैं, इससे भी अधिक ये बात महत्व रखती है कि आप किस व्यक्ति की बातो पर विश्वास करते हो. आपके लिए कौन महत्वपूर्ण है जिंदगी में, कुल मिलाकर ये सारी बातें आप कौन होंगे यह तय करती है.

आपके द्वारा पढ़ी जाने वाली किताबें या लेख – आपके द्वारा ली गई सभी जानकारी – सकारात्मक या नकारात्मक तरीके से आपके भविष्य को प्रभावित करेगी. आप अपने दिमाग को किस तरह से प्रतिदिन फीड करते (खिलाते) है या नहीं फीड करते हैं – वह आपके भविष्य में दिखाई देगा.

आज आप जो कुछ खाते हैं, वह आपके भविष्य के शारीरिक या मानसिक ऊर्जा स्तर को प्रभावित करेगा. आपके विचारों और सूचनाओं के साथ भी यही बातें लागू होती है.

सिर्फ मोटिवेशनल अर्थात प्रेरणादायक वीडियो देखने से क्या फरक पड़ेगा?

अगर आप सिर्फ वीडियो देख कर अपना मन बना लेंगे, तो फिर आप खुदको विचार करने का मौका भी नहीं देंगे और अक्सर ये तब हो सकता है जब हम वीडियोज देखते है. लेकिन जब भी हम कुछ पढ़ते है तब हमारे मन में काफी सवाल या विचार आते है, जो हमारी सफलता के लिए बहुत जरुरी होते है.

दिमाग लगा के पढ़ो और आगे बढ़ो

अपने मन को सफल विचारों के साथ खिलाने के लिए प्रतिबद्ध रहें, और खुदको उन लोगों के साथ घेर ले, जिनकी बड़ी महत्वाकांक्षाएं है. इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आपकी जानकारी कहाँ से आती है – आप पढ़ सकते हैं, प्रतिदिन पढ़ सकते है, रोजाना अगर आपको १० मिनिट पढ़ने में लगे तो कोई फर्क नहीं पड़ता, बस यह सुनिश्चित करें कि आप हर दिन अपने दिमाग को खिलाते रहें.

आपका भविष्य आपके अनुशासित होने के लिए भीख माँग रहा है, आपका भविष्य स्वयं आपसे विनती कर रहा है कि आप बाकी लोगों की तरह न रहें, जो सिर्फ शॉर्ट वीडियोस या सोशल साइट्स पर अपना समय बिताते है. बाकी लोगों की तुलना में आप अधिक जानकारी जुटाने में लग जाये, बाकी की तुलना में कड़ी मेहनत करें और होशियार बने. आपका भविष्य स्वयं आपको अभी काम करने के लिए बार-बार कह रहा है, इसलिए क्योंकी आप भविष्य में आनंद ले सकें!

आप अपने जीवन में क्या चाहते हैं, आपको उसीमे इन्वेस्ट करना होगा. यदि आप सफलता चाहते हैं, तो उसमे इन्वेस्ट करे. यदि आप स्वास्थ्य और फिटनेस चाहते हैं, तो वही ध्यान दें. यदि आप शांति और खुशी चाहते हैं, तो उसके लिए अपने कार्य करे. आपके कर्म आपके परिणामों के बराबर होते हैं.

हमेशा अपने दिमाग में फीड करते रहो की
“आप अमर्याद है.”

इस तरह के विविध लेखों के अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज ssoftgroup लाइक करे. WhatsApp पर दैनिक अपडेट मिलने के लिए यहाँ Join WhatsApp पर क्लिक करे

© सागर वझरकर
एस सॉफ्ट ग्रुप इंडिया

Worth-to-Share

Comments are closed.