Press "Enter" to skip to content

9th Oct: world post day | विश्व डाक दिवस

world post day : आज 9 अक्टूबर के दिन हम world post day | विश्व डाक दिवस मनाने जा रहे हैं. जैसा कि आप जानते हैं कि डाक सेवा की वजह से लोगों का एक दूसरे के साथ कठोर तरीके से होता हुआ व्यवहार अब बदल गया है. फिर भी इंटरनेट के आने से पहले लोगों को मेल के बारे में और साथ ही अंतरराष्ट्रीय नीतियों के अलग-अलग कारणों के द्वारा एक दूसरे को पत्र प्राप्त करने के लिए उन्हें कठिन होता था. और यही कारण है कि हमें डाक द्वारा मिली गई अच्छी सुविधा की कारण इस दिवस को मनाने का एक बहुत ही नायाब और आसान तरीका मिल गया है. world post day पर लोगों में इसके बारे में याद दिलाने के लिए दिवस है जब सभी देशों में डाक सेवा हेतु बहुत ही आसान हो गई है. और इसी के साथ एक समझौता करने के लिए और साथ ही मेल को सेवा के रूप में रखने के बारे में सब कुछ बदल दिया गया है. तो आइए world post day के बारे में हम अधिक जानकारी लें. ताकि हमें इस दिवस का अच्छी तरह से पता चल सके और हम इसे पूरी ताकत के साथ मना सके.


world post day ka itihas

world post day पर हम इस यूनिवर्सल पोस्टल यूनियन के दिवस की वर्षगांठ मनाते हुए लोगों को इसके बारे में अधिक जानकारी देना चाहते हैं. लोगों को शिक्षित करने की जरूरत है, ताकि दुनिया भर में डाकघरों का किस तरह से वैश्विक संचार हो सकता है. और इसके बारे में आगे बढ़ने की किस तरह की मदद हो सकती है ताकि सभी एक दूसरे के साथ जुड़ जाएं और हम अपनी जानकारी एक दूसरे को साझा कर सकें. साल 1874 में यूनिवर्सल पोस्टल यूनियन की शुरुआत हो चुकी थी और इसमें डाकघरों की सभी नीतियों को अपनाया था. डाकघरों की नीतियों का संवहन बर्न की संधि द्वारा स्थापित किया गया था. एक स्वरूप है जो बर्न की संधि को अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन का नतीजा देता है. और इसी विचलन की सरकार द्वारा पोस्ट किया गया था इस वजह से की डाक के सभी नियमों और समान रूप से आदान प्रदान आराम से किया जा सकता है. इसी के साथ अद्यतन नीतियां कई तरह की होती है जिनमें मदद करने के लिए कई बार संधियों में संशोधन किया जा सकता है. यूनिवर्सल पोस्टल यूनियन ने भी एक सार्वजनिक करने में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका बजाई है. इसी के आधार पर डाकघरों की सेवा की दुनिया में कही से भी कहीं भी भेजा जा सकता है. इसी की वजह से दुनिया में कई देशों में अपने अधिकारियों को बनाए रखने में बहुत सारी मदद की है. और साथ ही और इसकी सूचना पर यात्रा एवं प्रत्येक देश की कमाए हुए धन को भी बनाए रखने की उन्हें अनुमति दे दी है. वैसे तो आपको पता होगा कि हर एक देश में खुद की मेल सर्विस या फिर डाक सेवा होती है. यूनिवर्सल पोस्टल यूनियन ने पहले ही अंतरराष्ट्रीय अवरोध दूर करते हुए बहुत अच्छी और अग्रिम डाकघरों की सेवा देने में मदद की है. इसी तरह से world post day पर हम भी इसी संधि को मनाना चाहते हैं. क्योंकि अब लोगों ने अपनी पोस्ट भेजने को प्राप्त करने के तरीकों को बदल कर रख दिया है. और इसी वजह से हमें इस दिन को मनाने के लिए लोगों को भी समय से अपने प्रिय मित्र परिवार या फिर किसी भी घर के सदस्य के साथ व्यवहार करने पर पोस्ट भेजना चाहते हैं तो उनके साथ मनाना ही चाहिए. वैसे तो यूनिवर्सल पोस्टल यूनियन के साथ आर्थिक स्थिरता और पर्यावरण रक्षण के बारे में चर्चा से सभी लोगों को पोस्ट को बेहतर अनुभव देने के लिए यह संस्था सभी दिशाओं में अच्छी तरह से काम करती है.

world post day kaise manaye

विश्व डाक दिवस पर हम आपको ये जानकारी बताना चाहते है कि इसे किस तरह से आप मना सकते है. किसी भी प्रकार का व्यवहार आप अगर ऑनलाइन तरीकों से करते हैं तो उसके साथ पत्र, पोस्टकार्ड या फिर मेल भेज कर उसकी जानकारी को साझा करें. यही इस दिवस को शानदार तरीके से मनाने का एक अच्छा विकल्प हो सकता है. साथ ही आप यूनिवर्सल पोस्टल यूनियन के बारे में अधिक जानकारी ले और अपने दोस्त एवं परिवार के साथ साझा कर सकते हैं. आप अगर यह जानकारी वीडियो या फिर वेब पोस्ट के माध्यम से ले रहे हैं तो इसे जरूर अपने जुड़े हुए दोस्तों के साथ भी शेयर करें. ताकि बाकी सारे लोग भी इस दिवस को मनाने के बारे में अधिक विचार कर सकें.
इसीके साथ आप #postday को टैग करते हुए सोशल मीडिया पर शेयर करें. तो आइये दोस्तों हम भी इस साल का डाक दिवस जश्न के साथ मनाने की तैयारी करते है.

हमारा यह विश्व डाक दिवस पर आधारित लेख गर आपको पसंद आता है और साथ ही आप डाक सेवा का लाभ उठाने के बारे में सोच रहे हैं, तो हमें comment box में comment करते हुए जरूर बताएं.


इस तरह के विविध लेखों के अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज ssoftgroup लाइक करे.


WhatsApp पर दैनिक अपडेट मिलने के लिए यहाँ Join WhatsApp पर क्लिक करे

Worth-to-Share

Be First to Comment

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *