Press "Enter" to skip to content

३१ मई: विश्व ध्यान दिवस (World Meditation Divas) दिनविशेष

World Meditation Divas: दोस्तों, आज 31 मई के दिन हम ‘विश्व ध्यान दिवस’ (World Meditation Divas) मनाने जा रहे हैं. जब आपके आसपास की दुनिया से चकराकर, आपका दिमाग पागलपन का शिकार होकर हर प्रकार के विचारों से खाली कर देता है, तब आपकी मदद के लिए सिर्फ ध्यान ही होता है.

इंसानी दिमाग पहले से ही ज्यादा जानकारी जुटाने में लगा रहता है. फिर चाहे वह स्मार्टफोन हो या इंटरनेट के माध्यम से हो, इसी वजह से हम में से कई लोग एकाग्रता के लिए संघर्ष करते हैं. ध्यान (Meditation) आपको आप के वर्तमान के बारे में सोचने, वर्तमान के क्षण जीने और भविष्य पर ध्यान (Meditation) केंद्रित करने में मदद करता है. तो आइए, अब हम देखें की ध्यान (Meditation) दिवस कैसे मनाया जायें.

विश्व ध्यान दिवस का इतिहास (World meditation divas ka itihas)

विश्व ध्यान दिवस (World meditation divas) के इतिहास का हमें ध्यान के माध्यम से ही पता लग सकता है. वैसे तो ध्यान कई धर्मों का एक अभिन्न अंग रहा है और भारत में पहली बार लगभग 1500 ईसा पूर्व में इसे लिखित रूप में पाया गया था. यह दुनिया के कई धर्मों में, विशेष रुप से बौद्ध धर्म में और अन्य पूर्वी देशों के धर्मों में भी एक प्रमुख भूमिका निभाता है.

पूर्वी देशों के लोगों द्वारा इसे हर रोज अभ्यास में किया जाता है, जो उनके तनाव को कम करने और दिमाग को शांत रखने के तरीके के रूप में मनाया जाता है. यह न तो आध्यात्मिक है और ना ही धार्मिक होता है.

आज की दुनिया में तो Meditation का बड़ा ही महत्व है. भले ही आप आध्यात्मिक व्यक्ति हो या ना हो, हमारी दैनिक गतिविधियों में होने वाली घबराहट और हलचल से हम में से कई लोगों की खोई हुई शांति वापस लाने में ध्यान बड़ी मदद करता है. 

ध्यान करने से मिलने वाले लाभ (Meditation karne ke laabh)

कई चरमपंथी धार्मिक समूहों ने ध्यान को बड़ा विचलित किया है, जबकि वास्तव में इसके नियमित अभ्यास से सकारात्मक मानसिक और शारीरिक प्रभाव साबित हुए हैं. दुनिया भर में चिंता एक प्रमुख मानसिक स्वास्थ्य स्थितियों में से एक है. हालाकी डॉक्टर अपने रोगियों के लिए दवा लिख कर देते हैं, लेकिन चिंता के लक्षणों का इलाज करने के लिए सबसे आम और समग्र तरीका है कि आप हर रोज कुछ समय के लिए ध्यान करें. 

यह चिंता से ग्रस्त व्यक्तियों के हृदय गति को धीमा करने, हानिकारक विचारों को नियंत्रित करने और चिंता की रोकथाम करने में भी बहुत मदद करता है. जो व्यक्ति हमेशा तनावपूर्ण स्थिति में रहते हैं उन्हें भी ध्यान Meditation हमेशा करना चाहिए. ध्यान Meditation के माध्यम से आप कुछ समय निकालकर अपने रक्तचाप और सांस की गति को कम करने साथ ही तनाव के स्तर को भी कम कर सकते हैं, अपने मन को शांत और शरीर को लंबे समय तक तनाव से उबरने का समय दे सकते हैं. 

आखिर ध्यान कैसे करें? (Meditation kaise kare)

Meditation के बारे में कई चीजें कहीं गई है, लेकिन इन सारी चीजों में से एक चीज एकदम पक्की है कि, इसे कोई भी और कभी भी कर सकता हैं. चाहे आप बैठे हो, खड़े हो, बिस्तर पर लेटे हो या स्नान कर रहे हो. आपको बस अपनी आंखें बंद कर लेनी है, गहरी सांस अंदर और बाहर लेने पर ध्यान देना है और जितना हो सके अपने दिमाग को सभी प्रकार के विचारों से खाली करना है. शुरुआत में आपको अपने दिमाग में आ रहे विचारों से छुटकारा पाना मुश्किल होगा, लेकिन इसका आप जितना ज्यादा अभ्यास करेंगे, आप उतना ही इसमें महारत हासिल कर सकते हैं.

World Meditation Day कैसे मनाएं (Meditation divas kaise manaye?)

अपने मन को शांत करने और शरीर को आराम देने के लिए आप Meditation की मुद्रा में अलग से निर्धारित समय दे सकते हैं, यही विश्व ध्यान दिवस मनाने का सबसे अच्छा और सरल उपाय हो सकता है. ध्यान कैसे किया जाए यह व्यक्ति से व्यक्ति तक व्यापक रूप से भिन्न हो सकता है.

लोग अक्सर ध्यान को योगा या अन्य व्यायाम उन्मुक्त गतिविधियों के साथ जोड़ते हैं जबकि अन्य लोग इसे अलग से समय निकालकर और अपनी पसंद के आसन में बैठकर ध्यान करना पसंद करते हैं.

हमारा यह ‘World Meditation Day‘ पर आधारित दिनविशेष का लेख पूरा पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद! हम आपके लिए रोज ऐसेही अच्छे लेख लेकर आते है. अगर आपको यह लेख पसंद आता है तो फेसबुक और व्हाट्सएप पर अपने दोस्तों को इसे फॉरवर्ड करना ना भूले. साथ ही हमारी वेबसाइट को रोजाना भेंट दे. 

इस तरह के विविध लेखों के अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज ssoftgroup लाइक करे.


WhatsApp पर दैनिक अपडेट मिलने के लिए यहाँ Join WhatsApp पर क्लिक करे

Worth-to-Share

Comments are closed.