१६ मई: विश्व फिडल दिवस (World Fiddle Day) दिनविशेष

विश्व फिडल दिवस एक ऐसा का वार्षिक उत्सव है जो मई की तीसरे शनिवार को मनाया जाता है. इस साल यह 16 मई को मनाया जाएगा. भले ही 2012 में विश्व फिडल दिवस बनाया गया था, लेकिन कुछ ही वर्षों में दुनिया भर में इसे भरपूर लोकप्रियता मिली. 

यह जश्न और समावेशी घटनाओं के आयोजन का अच्छा मौका है. दुनिया भर में वाद्ययंत्रों को बजाने एवं सीखने के लिए इसको बनाया गया था. फिडल एक धनुषाकार स्ट्रिंग का संगीत वाद्ययंत्र है, जिसका उपयोग शास्त्रीय संगीत सहित सभी शैलियों में किया जाता है.

विश्व फिडल दिवस पर इसका हर कोई जश्न मनाता है, और फिडल की संगीत कला के बारे में हर किसी को पसंद है. आप देखेंगे इनको हमेशा कुछ सकारात्मक होने के लिए ही माना जाता है. इसे सभी गानों और नोट्स के साथ इस तरह की ऊर्जा मनोरंजन और सकारात्मकता लाने के लिए ही माना जाता है.

आप किसी कमरे में भी नृत्य करते हुए और गाना बजाते हुए इसे मना सकते हैं. दुनिया भर में भी इस दिन को खूब सारे नाच, संगीत और निश्चित रूप से फिडल प्ले के साथ मनाया जाता है.

विश्व फिडल दिवस का इतिहास

इससे पहले कि हम इस दिन के बारे में अधिक जानकारी लें, यह सब से अच्छा होगा कि फिडल का बेहतर तरीके से विचार किया जाए और इसे अच्छी तरह से मनाया जाए.फिडल स्ट्रिंग परिवार का एक चार तारों वाला संगीत वाद्ययंत्र है जिसे एक छोटे प्रकार के वायलीन के रूप में भी जाना जाता है.

वायलिन की तरह यह भी धनुष आकार में होता है. फिडल वादन या फिडलिंग को संगीत की एक शैली के रूप में और सामान्यतः लोगों को संगीत की तरफ आकर्षित करने के लिए मनाया जाता है. फिडल नाम की उत्पत्ति ज्ञात नहीं है, लेकिन माना जाता है कि यह प्रारंभिक वायलिन या पुराने अंग्रेजी शब्द ‘फिटहेल’ से आया है. यह फिडल अंग्रेजी,स्कैण्डिनेवियाई, ऑस्ट्रियाई, फ्रेंच, हंगेरियन, पोलिश, अमेरिकी, लैटिन अमेरिकी, अफ्रीकी और यहां तक की ऑस्ट्रेलियाई संगीत के लिए भी आम प्रकार है.

जिसके नाम और प्रकार के संगीत के साथ अलग फिडल और छोटे वायलिन के बीच में कोई अंतर नहीं माना जाता है. इस दिन की स्थापना 2012 में आयरलैंड के डोनेगल के एक पेशेवर फिडलर काओहिमीन मैक अयोइड के द्वारा की गई थी. यह इतिहास के विशेषज्ञ और श्रद्धेय वायलिन निर्माताओं में से एक के लिए गहरे सम्मान में बनाया गया दिन है.
इस दिन को 1737 में इटालियन वायलिन शिल्पकार एंटोनियो स्ट्रॉडीवरी के वापसी की वर्षगांठ के साथ सहयोग करने के लिए चुना गया था.

विश्व फिडल दिवस कैसे मनाएं

यदि आपने स्कूल में कभी वायलिन बजाना सीखा है, तो आप इसका दिन भर आनंद लेने के लिए या काम के लिए भी बजा सकते हैं. तो निकालिए अपनी फिडल और बजाइए अपने पसंदीदा धुन! शायद आपके दोस्तों और परिवार के लिए आप थोड़ी सी सरल थीम बजाएं और यदि आप खुद यह बजाना नहीं जानते हैं, तो आपको आज इसे सीखने का एक अच्छा मौका और समय आया है. यह एक नई तरह का वाद्ययंत्र सीखने के लिए हमेशा ही मजेदार और आकर्षक रहा है. तो क्यों ना आप आज से यह नई कला सीखने के लिए शुरू करें.

यदि आप हमेशा वायलिन पर अपना हाथ आजमाना चाहते थे, तो शायद आप आज भी ट्रायल सबक सीख सकते हैं, और कौन जाने, जब तक अगला विश्व फिडल दिवस आएगा, तब तक आप एक अच्छा फिडल बजाने में सक्षम हो सकते हैं…!

हमारा यह ‘विश्व फिडल दिवस’ पर आधारित  दिनविशेष का लेख पूरा पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद! हम आपके लिए रोज ऐसेही अच्छे लेख लेकर आते है. अगर आपको यह लेख पसंद आता है तो फेसबुक और व्हाट्सएप पर अपने दोस्तों को इसे फॉरवर्ड करना ना भूले. साथ ही हमारी वेबसाइट को रोजाना भेंट दे. 

इस तरह के विविध लेखों के अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज लाइक करे.

WhatsApp पर दैनिक अपडेट मिलने के लिए यहाँ Join WhatsApp पर क्लिक करे
Worth-to-Share

Sending
User Review
0 (0 votes)

Subscribe to Channel
Shayari Sukun
Follow us on Pinterest