Press "Enter" to skip to content

4th Oct: world animal day | विश्व पशु दिवस

world animal day : साथियों, आज 4 अक्टूबर के दिन हम world animal day | विश्व पशु दिवस मनाएंगे. यह दिवस हर वर्ष 4 अक्टूबर के दिन मनाया जाता है. इस दिन को पशुओं के कल्याण और उनके अधिकार का एक अंतरराष्ट्रीय केंद्र बनाया गया है. विश्व पशु दिवस सभी लोगों की एकजुटता दिखाता है, जो हमारे बीच मौजूद सभी जानवरों के बेहतर इलाज और अच्छी पशु कल्याण के आंदोलन के लिए काम करने में ही अपने जीवन को जुटाना चाहते हैं. हम कह सकते हैं कि लगभग 100 साल पहले यह दिन एकदम मामूली रूप से ही शुरू किया गया था. लेकिन आज इसे दुनिया के सभी जानवरों को एक अच्छा और बेहतर स्थान देने के लिए वैश्विक शक्ति के रूप में मनाया जाता है.

साथ ही हम कह सकते हैं कि इस दिवस पर हमें जानवरों के लिए बड़ी और अच्छी दहाड़ लगाने की योजना जरूर बनाने चाहिए. हमें पता है कि जानवर मनुष्य जैसी बातें नहीं कर सकते. लेकिन हम उनके तरीके से बात करने को जरूर समझ सकते हैं. हमें इस दिवस पर एक साथ आना चाहिए और पृथ्वी पर किसी भी कोने में रहने वाले जानवरों के लिए काम जरूर करना चाहिए.


world animal day : kya aap jante hai?


– समुद्री सी हॉर्स अपने जीवन में संभोग करने के बाद जब यात्रा करते हैं, तो एक दूसरे की पूंछ पकड़ते हुए आगे बढ़ते हैं.

– किसी झींगे का दिल उसके सिर में ही स्थित होता है.

– क्या आपको पता है कि ब्लू व्हेल किसी भी जानवर से सबसे तेज यानी कि 188 डेसीबल की आवाज निकाल सकती है?

– किसी भी बाघ की त्वचा पर सफेद और पीले रंग की जो धारियां होती है, उनमें अलग-अलग प्रकार के पैटर्न होते हैं. और यह धारियां इंसान की फिंगरप्रिंट की तरह हर बाघ से बिल्कुल अलग होते हैं. और साथ ही कोई भी बाघ अपने शरीर की इन धारियों को कभी बदल नहीं सकता.

– वैसे तो फ्लेमिंगो प्राकृतिक स्वरूप से सफेद ही होता है. लेकिन उसके खाने में आनेवाले झींगे, शैवाल और ऐसे ही अलग तरीके की आहार की वजह से उसका रंग गुलाबी हो जाता हैं.

– जब पहला विश्व पशु दिवस जर्मनी के बर्लिन में 24 मार्च 1925 को मनाया गया था, तब इसमें 5000 से ज्यादा लोग आए थे. अगर आपको पता नहीं तो हम आपको बता दें कि दिवस की स्थापना लेखक और पशुओं के कार्यकर्ता हेनरिक जिमरसन ने की थी.

– शुरुआती के सालों में यह दिवस ऑस्ट्रिया, चेकोस्लोवाकिया, जर्मनी और स्विट्जरलैंड इन्हीं देशों में मनाया गया था. लेकिन 1931 में इटली की फ्लोरेंस में हुई अंतर राष्ट्रीय पशु संरक्षण कांग्रेस की बैठक में जीरमैन ने 4 अक्टूबर को विश्व पशु दिवस का बहोत बड़ा उत्सव मनाने की बात कही. और तब जाकर इसे सबकी सहमति मिल चुकी.

– आपके लिए इस दिवस को मनाने के लिए कई कार्यक्रमों की व्यवस्था की जाती है. इसमें पशुओं के बारे में जागरूकता और इसकी शिक्षा के कार्यक्रम हो, या फिर पालतू जानवरों को गोद लेना हो इन सभी बातों का इसने आकलन होता है. इसी के साथ बहुत सारी ऐसी चुनौतियां भी होती है जो जानवरों को बहुत दुख देती है. इन चुनौतियों पर भी सभी का ध्यान आकर्षित करना बहुत महत्वपूर्ण होता है. यह दिवस इसके लिए मददगार साबित होता है.

– आपको पता होगा कि इंसानों के लिए शार्क का बहुत बड़ा महत्व होता है और इंसानों को उन से डर होता है. लेकिन जर्नल मरीन पॉलिसी के अनुसार हर साल लगभग 100 मिलियन शार्क को इंसानों के द्वारा मारा जाता है.

world animal day ka itihas

हम आपको बताना चाहते हैं कि विश्व पशु दिवस सबसे पहली बार मार्च 24, 1925 के दिन शुरू किया गया था. इसे जर्मन के पशु प्रेमी और ‘मैन एंड डॉग’ के प्रकाशक जीमरमैन ने पशुओं के बारे में जागरूकता बढ़ाने और उनके कल्याण को सुधारने के लिए ही इस कार्यक्रम की शुरुआत की थी. लेकिन 4 अक्टूबर को जानवरों के संरक्षक संत असीसी के सैन फ्रांसिस उनके उल्लेखनीय जानवरों को प्रति लगाव के कारण जाना जाता था. साथ ही कुछ कैथोलिक चर्च मैं भी इस दिवस को जानवरों के आशीर्वाद के लिए मनाया जाता था. इस दिवस को खास तौर पर संकटग्रस्त प्रजातियों की समस्याओं पर चर्चा करने के लिए ही बनाया गया है. देखा जाए तो इस दिवस को केवल पालतू जानवरों के लिए ही नहीं बनाया गया है अपितु इसे लुप्तप्राय प्रजातियों के लिए और साथ ही जो पर्यावरण की तबाही हो रही है उसकी तरफ ध्यान खींचने के लिए भी बनाया गया है. और साथ ही हमें इस दिवस पर सभी जीवित जानवरों के सराहना और सम्मान जरूर करना चाहिए.

world animal day kaise manaye

आप इस विश्व पशु दिवस पर अपने हिस्से के कार्यक्रम को मनाने के लिए आधिकारिक तौर पर किसी आसपास के कार्यक्रम में शामिल हो सकते हैं. या फिर इसके लिए आपको इनके वेबसाइट पर भी जाकर कार्यक्रमों के आयोजन में मदद मिल सकती है. साथ ही साथ किसी पालतू जानवर को गोद ले सकते हैं. कई शहरों में विश्व पशु दिवस पर पालतू जानवरों को गोद लेना एक आम बात होती है, और इससे आपकी जिंदगी में बहुत बड़ा बदलाव आ सकता है. आप अपने घर परिवार वालों को एवं बच्चों को भी जानवरों की नई नई कहानियां साझा कर सकते हैं और जानवरों संबंधित खिलौने उत्पादन को भी खरीद सकते हैं. आप इस दिवस पर दुनिया में शांतिपूर्ण विरोध की प्रदर्शन के लिए भी मदद कर सकते हैं. इसके लिए बुल फाइटिंग के साथ ही शार्क एवं हाथियों की अवैध शिकारी पर भी रोक लगाने के लिए आप कार्य कर सकते हैं. इसी के साथ आप #animalday को टैग करते हुए इस दिवस को सोशल मीडिया पर भी अपनी तरह से मना सकते हैं.

अगर हमारा विश्व पशु दिवस पर आधारित यह लेख आपको बहुत पसंद आया हो और आपने भी किसी पालतू जानवर को गोद ले लिया हो, तो हमें नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करते हुए जरूर बताएं दोस्तों.


इस तरह के विविध लेखों के अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज ssoftgroup लाइक करे.


WhatsApp पर दैनिक अपडेट मिलने के लिए यहाँ Join WhatsApp पर क्लिक करे

Worth-to-Share

Be First to Comment

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *