Press "Enter" to skip to content

Trekking in unexplored Pabe Ghat |अज्ञात पाबे घाट की ट्रैकिंग

trekking in unexplored pabe ghat  :  दोस्तों, यूं तो आप बहुत सारी जगह पर घूमने के लिए गए होंगे. चाहे वो आपके गांव के पास के बड़े पहाड़ की चोटी हो, या फिर आप के खेत में चक्कर लगाने के लिए गए हो. लेकिन वहां घूमते हुए आपको जो आनंद आता है, उसे शब्दों में बयां करना बहुत कठिन होता है.

आज हम ऐसे ही अज्ञात पाबे घाट की ट्रैकिंग के बारे में जानकारी लेंगे. अगर आप पुणे शहर या उसके आसपास की रहिवासी है, तो आपको इस स्थान के बारे में जरूर पता होगा. और अगर आपको फिर भी पता नहीं है तो हम आपको इसके बारे में आज जानकारी देंगे, जो आपको जरूर पसंद आएगी. और हमें पता है कि आपका दिल बार बार आने के लिए जरूर बेताब होगा!

आप जब भी किसी trekking पर या फिर bike riding अर्थात बाइक सवारी पर निकलते हैं, तो उस मुकाम से ज्यादा उन रास्तों पर घूमने के लिए ही आपका मन रोमांचित होता है. आपके दिल में दबी हुई एक सहर्ष भावना अपने आप पुलकित हो जाती हैं. और आपके चेहरे पर अपने आप नई रोनक आ जाती है.

इसलिए कि आप अपने रोजाना की routine से कुछ अलग और बेहतर करने के लिए निकल पड़ते हैं. हम भी आपको trekking of unexplored Pabe Ghat  इस लेख के मदद से उस रोमांचक सफर पर लेकर जाना चाहते हैं, जिससे आपको ऐसा लगेगा कि आप खुद ही अभी उस घाट में उतरे हो. तो आइए दोस्तों, अपने इस हसीन सफर की शुरुआत करते हैं!

Where is Pabe Ghat? |  पाबे घाट कहां है?

अगर आप पुणे शहर घूमे होंगे, तो आप इसके साथ-साथ आसपास के परिसर में भी घूमने जरूर गए होंगे. वैसे तो पुणे शहर और उसके नजदीक के परिसर पर प्रकृति की बहुत अच्छी कृपा दृष्टि हमें देखने को मिलती है. जैसे प्रकृति खुद होकर पुणे जिले पर और उसके आसपास के भाग पर अति प्रसन्न हो गई हो. पुणे शहर का भूगोल अपने खूबसूरत सहयाद्री पर्वत श्रृंखला से पूरी तरह घिरा हुआ माना जाता है. इसे पश्चिमी घाट भी कहा जाता है. यहां की मिट्टी यहां के पेड़-पौधों, फल, फूल, वनस्पति एवं प्राणियों से भरी हुई है.

इसलिए यहां पर आप लगभग किसी भी दिशा में अगर  छोटी यात्रा पर भी गए. या फिर किसी ट्रैकिंग पर गए तो आप यहां की प्राकृतिक सुंदरता का अनुभव बड़ी अच्छी तरह से कर सकते हैं. इसी बेहतरीन पुणे जिले में ही हमारा पाबे घाट स्थित है. पाबे घाट पुणे से मात्र 26 किमी दूर पुणे-खड़कवासला डैम-ढोनजे विलेज- खानापुर गांव के रास्ते पर आता है. ये घाट सिंहगड और राजगड जैसे बड़े किलों के बीच में स्थित होने की वजह से इस स्थान ने पुणे और आसपास के लोगों के दिल में एक बड़ी ऊंचाई प्राप्त कि हुई हैं. यहां पर मानसून में लोगों की तादाद देखने लायक होती है. और ये दोनो किले छत्रपति शिवाजी महाराज के पद स्पर्श की वजह से पुनीत पावन हो गए हैं. और इसलिए यह दोनों किले लोगों के पसंदीदा और एक आदर्श यात्रा स्थान है.

यहां पर आने वाले पर्यटक आमतौर पर मुलशी, लोनावला और सिंहगड जैसे नियमित स्थानों पर जाने वाले लोग होते हैं. लेकिन असली मजा तो ऐसी जगह पर जाने में ही आता है, जहां बहुत कम लोग जाते हैं. जिसके बारे में ज्यादातर लोग नहीं जानते. वो इन किलों के बीच में पड़ने वाले पाबे घाट में रुक कर कुछ देर अपना बेहतरीन समय भी व्यतीत करते हैं. और प्रकृति की सुंदरता को अपनी आंखों में समाना भी चाहते हैं. निश्चित रूप से पाबे घाट भी एक ऐसी ही जगहों में से एक है. इस घाट में मानसून के बारिश में पूर्ण रूप से खिलने वाले हरे-भरे पहाड़ों में सांस रोकने वाले दृश्य हमें और भी रोमांचित कर देते हैं.

How to reach pabe ghat  |  पाबे घाट कैसे पहुंचे

आप पुणे से अगर साइकिल या बाइक पर जा रहे हो, तो आपको लगभग 26 किलोमीटर दूर pune- khadakwasla dam- dhonje village- khanapur  गांव के रास्ते पर जाना होगा. खानापुर गांव से लगभग 1 किलोमीटर की दूरी पर ही पाबे घाट स्थित है. 

Pune to Pabe ghat distance : approx. 26 km
पाबे घाट नजदीक स्थित बस स्टैंड : अगर आप पुणे शहर से बाहर के रहिवासी हो, तो आपको पास का बस स्टैंड पुणे ही है.
पाबे घाट नजदीक स्थित रेलवे स्टेशन :  अगर आप रेलवे मार्ग से आना चाहते हैं, तो आपको ‘पुणे स्टेशन’ ही सबसे पास का स्टेशन है.

पाबे घाट नजदीक स्थित हवाई अड्डा : अगर आप यहां पर हवाई रास्ते से आना चाहते हैं, तो सबसे नजदीक का हवाई अड्डा ‘छत्रपति संभाजी महाराज इंटरनेशनल हवाई अड्डा’ है. ये ‘पुणे इंटरनेशनल एयरपोर्ट या फिर पुणे लोहगांव हवाई अड्डा’ के नाम से भी जाना जाता है.

Pabe ghat viewing point  |  पाबे घाट व्यूइंग पॉइंट (Video) 📹




Video Credit: Nature lover on travel

आप जब भी सिंहगड रास्ते से पाबे घाट पर आते हैं, तो आपको कई तरह के नए-नए पशु पक्षियों के दर्शन होते हैं. यहां का नजारा बहुत ही मनोरम होता है. यहां पर कई तरह के ऐसे वनस्पति और पेड़-पौधे भी मिले हैं, जो और कहीं नहीं पाए जाते हैं. आप जब भी पाबे घाट जाओ, तो अपने साथ कोई कैमरा या फिर वीडियो शूटिंग के लिए संसाधन साथ में जरूर लें. क्योंकि यहां के मशहूर ट्रैकिंग पॉइंट्स और व्यूइंग प्वाइंट पर नजारा हमेशा देखनेेे लायक होता है.

यहां पर ऐसे कई पेड़ों और बहुत ही हैं जो नायाब तरीके से बस यही पर उगते हैं. इनमें ही कुछ सफेद सुंदर फूल होते हैं, जो आर्किड फैमिली से संबंधित हैं. इन्हें सामान्यता  Single leaved habeneria  कहां जाता है. मराठी में इन्हें ‘चिचुरकांदा’ या ‘चिकरकांदा’ के नाम से जाना जाता है. 

यहां पर आपको मानसून की शुरुआत में दिखाई देने वाले और कुछ जड़ी बूटी देने वाली पौधों जैसे फूल भी मिल जायेंगे, जो अक्सर जून जुलाई के महीनों में उगते हैं. वे आमतौर पर खुले और उच्च स्थानों पर उगते हैं. एक तरफ ताजी और खुली हवा, नयनरम्य और अचंभित कर देने वाले नजारे, तो दूसरी तरफ छत्रपति शिवाजी महाराज के समय में बांधे गए किलों के दर्शन करते ही आप के आंखों के सामने मानो इतिहास पुनः जाग जायेगा.

Various other stops near pabe ghat  |  पाबे घाट के पास बाकी स्थान

वैसे तो पाबे घाट आते आते आपको कई बडे और अच्छे स्थान लगते हैं. लेकिन उन सब में कुछ ही स्थान निश्चित ही रुकने लायक है. जैसे कि एक स्थान  khadakwasla dam है. इसे खड़कवासला बांध के नाम से भी जाना जाता है. ये पुणे में स्थित सबसे बड़ा बांध है. इसके सरोवर को खडकवासला सरोवर कहते हैं. ये बांध पुणे शहर से बहती हुई मुठा नदी पर बनाया गया है. यहां पर आप  pabe ghat birding,  pabe ghat waterfall  जैसेे कई तरह के रोमांचित कर देने वाली activities कर सकते हैं. इस बांध में आपको कई तरह के जल वनस्पतियां और तरह तरह के पक्षी भी दिखाई देंगे. इसी के पास में भारत का एक बड़ा आर्मी कैंप भी है. जिसे NDA अर्थात National Defence Academy, Pune के नाम से जाना जाता है. यहां पर जवान बच्चों को भारतीय सेना में शामिल होने के लिए ट्रेनिंग दी जाती है.

Trekking in Pabe Ghat  | पाबे घाट ट्रैकिंग करने का एक बहुत अच्छा स्थान

पाबे घाट जाते-जाते आपको डोनजे गांव लगता है. वहाँ के आश्चर्यजनक दृश्य आपके दिल को बहुत ही खुश कर देंगे. वहां पर बहने वाले झरने, हरे भरे खेत, पहाड़ की चोटियां यह सभी आपको आनंदित कर देंगे. और यह दृश्य आपको कुछ देर वहां रुकने के लिए बाध्य कर देंगे. आपको वहां पर खुली और ताजी हवा का अनुभव करने का एक रोमांचक अनुभव मिलेगा.

आप वहां जाते ही एक तरफ सिहगढ़ जैसे बड़े किले का अद्भुत दृश्य देख सकेंगे. तो आपकी दाईं ओर आपको दो और किले दिखेंगे. उनमें से एक होगा राजगढ़ और पास ही में स्थित है तोरणा गढ़. यह वहीं तोरना किला है, जहां से छत्रपति शिवाजी महाराज ने स्वराज्य की स्थापना की थी. एक तरह से कहां जाता है कि उन्होंने तोरना किला जीतते हुए स्वराज्य का तोरन बांधा था.

अगर आप और भी घूमने के बहुत शौकीन है, तो आप पाबे घाट के पास ही के Madhe ghat और Madhe ghat waterfalls देखने के लिए भी जा सकते हैं. मढे घाट जाने के लिए आपको मुंबई बेंगलुरु हाईवे NH-4 पर सतारा रोड से आगे जाना होगा. वहां पर आप अपने वाहनों को पार्क कर सकते हैं. और यहां पर पास ही के झरने का आनंद ले सकते हैं. यहां पास में ही आपको दिलचस्प झरना दिखाई देता है. जो 400 फीट तक नीचे गिरता है.

उसे देखते ही आपके मुंह से शब्द निकल पड़ेंगे, वाह! क्या सुंदर नजारा दिखाई देता है! इस झरने को मढेघाट का झरना भी कहा जाता है. ये स्थान पुणे के आसपास के सबसे खूबसूरत स्थानों में से एक है. ये ऊंचे पठार पर स्थित होने की वजह से यहां से ऊपर कोकण घाटी के शानदार दृश्य का आप आनंद ले सकते हैं.

हमें पूरा यकीन है कि इतने रोमांचित कर देने वाले दृश्यों को देखकर कुछ समय के लिए आप तो खुद को भी जैसे भुला दोगे. और यहां पर आप दोबारा जरूर आना चाहेंगे! आप इन सभी बातों में एक एहतियात जरूर बरतें. ऐसे स्थानों पर जाते हुए आपको अपने खाने पीने की चीज़ों को अपने साथ लेकर ही जाना होगा. क्योंकि सभी स्थानों पर आपके रहने की और भोजन की व्यवस्था होगी ही, ये सम्भव नहीं है.

तो चलिए दोस्तों, जल्दी से आपकी रोजमर्रा की पीठ पर लेने लायक बैग में अपना सामान पैक कीजिए और जल्दी से निकल पड़िए. हमारा यह  trekking in unexplored pabe ghat  पर आधारित लेख अगर आपको पसंद आया हो और आप पाबे घाट घूमने के लिए उत्सुक हो, तो नीचे comment box में comment करते हो हमें जरूर बताइएगा!


इस तरह के विविध लेखों के अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज ssoftgroup लाइक करे.


WhatsApp पर दैनिक अपडेट मिलने के लिए यहाँ Join WhatsApp पर क्लिक करे

pabe ghat

3 Comments

  1. Vrushali suvarna dnyandev Vrushali suvarna dnyandev

    मुझे आपका यह लेख बहुत बहुत अच्छा लगा। मुझे ट्रैकिंग करना बहुत पसंद है। मैं सिंहगड़, राजगढ़, खड़कवासला डैम देख चुकी हूं फिर भी मुझे पाबे घाट के बारे में कोई जानकारी नहीं थी। जो आज मुझे आपके इस लेख की वजह से मालूम हुई। मैं यहां पर जरूर जाना चाहूंगी।लेख पढ़कर पता चलता है आपको पुणे के बारे में काफी अच्छी जानकारी है।
    सिहागढ़ से यह घाट कितना दूर होगा और जाने की क्या व्यवस्था हो सकती है?

    • ssoftgroup ssoftgroup

      शुक्रिया वृषाली,

      सिंहगढ़ से पाबे घाट महज २१ किलोमीटर्स की दूरी पर है, आप बाइक से या कार से भी जा सकते हो.

  2. Jatin venu Jatin venu

    bahut badhiya vishleshan kiya hai aapne pabe ghat ke bare me..
    aur khaas kar video kaafi interesting laga..
    Keep it up. aisehi travelling ke liye naye blogs likhe

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *