Press "Enter" to skip to content

3 Sept: skyscraper diwas | गगनचुंबी इमारत दिवस

skyscraper diwas  :  दोस्तों, आज हम 3 सितंबर इस दिवस पर गगनचुंबी इमारत दिवस मनाने जा रहे हैं. आप तो जानते ही हैं कि आधुनिक समय में गगनचुंबी इमारतें तो आम बात हो गई है. और हम राष्ट्रीय गगनचुंबी इमारत दिवस पर ही सातत्य पूर्ण चमत्कार का एक बहुत ही अच्छा नमूना प्रदर्शित कर सकते हैं. हम कई स्थापत्य चमत्कार और इंजीनियरिंग के करतबों की सराहना करने के लिए यह सुनहरा मौका मना सकते है.

हमारे शहर में उपस्थित सभी गगनचुंबी इमारतें हमारे अस्तित्व को अनुग्रहित करती है. और हमारे स्काईलाइन शक्तिशाली इमारतों को परिभाषित करते हैं. वाह! सच में, क्या बढ़िया आसमान को चीरता हुआ दृश्य होता है! वैसे तो गगनचुंबी इमारतें लगभग 130 वर्षों से बनना चालू है.लेकिन क्या आपको पता है की दुनिया की सबसे पहली गगनचुंबी इमारत 1885 में शिकागो में पूरी हुई थी. और यह केवल 138 फीट लंबी थी. यह सिर्फ 10 मंजिला इमारत ही थी.

लेकिन वो तो आज की गगनचुंबी इमारत के सामने कुछ भी नहीं होगी. समय के साथ-साथ गगनचुंबी इमारतों के निर्माण में और इंसान की क्षमता और उसके कारनामों में काफी सुधार हुआ है. इसी वजह से अब आपको पता है कि कोई भी इमारत कम से कम 40 मंजिलों की हो, तो ही उसे हम गगनचुंबी इमारत कह सकते हैं. यह बात तो भीड़भाड़ वाले शहरों में  एक आम बात होती है.

ऐसे बड़ी इमारतों की एक बात अच्छी होती है कि इन्हें बाहरी क्षेत्र के बजाय ऊपर के क्षेत्र में ही बढ़ने के लिए तैयार किया जाता है. जो बहुत बड़ी जगह बचाती है. जिससे हमें ज्यादा से ज्यादा लोगों के लिए कम से कम जगह का इस्तेमाल करते हुए लोगों के रहने की व्यवस्था कर सकते हैं.

skyscraper diwas ka itihas

गगनचुंबी इमारत दिवस की शुरुआत 20 वी शताब्दी में हुई थी. जहां न्यूयॉर्क शहर में बिक्स आर्ट वास्तुशिल्प आंदोलन का एक केंद्र बना था. गगनचुंबी इमारतों को देखना बहुत ही दिलचस्पी भरा होता है. यदि आप इस के परिणामों को जानते हैं कि यह केवल एक दिन में नहीं बनती. अतीत से लेकर आज तक जैसे-जैसे सदियां बीत गई. इंसानी कलात्मकता और इंजीनियरिंग की तकनीकी उपलब्ध होती गई.

और इसी वजह से पूरी दुनिया में नई नई गगनचुंबी इमारतों का निर्माण होता गया. आज न्यूयॉर्क और शिकागो जैसे दुनिया के बड़े-बड़े शहरों में दुनिया की सबसे ऊंची इमारतों के लिए प्रतिस्पर्धा बन गई है.

1998 में मलेशिया के कुआलालंपुर में बनी पेट्रोनस ट्विन टॉवर्स बड़ी बड़ी इमारत गगनचुंबी इमारत का बहुत बढ़िया उदाहरण है. दुनिया की सबसे ऊंची इमारत में ताइपे, ताइवान जैसी 101 इमारतों के उद्घाटन के बाद एशिया में बड़ी इमारतें बनी, जो 2004 में बनी हुई थी. और इसके बाद 2010 में बना हुआ बुर्ज खलीफा नामक इमारत का नमूना दुनिया में सबसे ऊंचा है.

यह सबसे ऊंची स्वतंत्र संरचना वाली इमारत इंसान की सबसे बड़े और कठिन कार्य का पैगाम देती हुई शान से दुबई में खड़ी है. इस दिवस पर हम इमारतों की तेजी के विकास के लिए अग्रणी और कारक हुई एक लिफ्ट का बहुत अच्छा आविष्कार किया गया था. इसकी पहली यात्रा 1857 में न्यूयॉर्क सिटी के डिपार्टमेंट स्टोर में स्थापित किया गया था.

इस लिफ्ट की यात्रा की पहला कार्यालय भवन 1870 में न्यूयॉर्क शहर के इक्विटेबल लाइफ बिल्डिंग था. लेकिन गगनचुंबी इमारतों के लिए ये बनाया था. उसी प्रक्रिया का आविष्कार इस्पात के बड़े पैमाने का मार्ग प्रशस्त किया गया था. 1860 के दशक में स्टील का अविष्कार हुआ. जो एक मिश्र धातु होता है. जो लोहे की तुलना में अधिक मजबूत और हल्का होता है. इसका उपयोग किसी भी इमारत के निर्माण के लिए भी किया जा सकता है.

विलियम ले बैरन इन्होंने स्टील की गर्डर्स का उपयोग किया और 128 फीट की दूरी पर इमारत को खड़ा किया. जेनी के नायक लुई एच सुलीवन (Lui H. Sullivan) थे. जो गगनचुंबी इमारतों के वास्तुकार के रूप में प्रसिद्ध थे. उनके जन्मदिवस पर ही हम राष्ट्रीय गगनचुंबी इमारत दिवस मनाते हैं. इन्हें 1879 में नाइट अर्थात शूरवीर या योद्धा की पदवी दी गई थी.

skyscraper diwas ke bare me interesting facts 

 1.   आमतौर पर दुनिया की सबसे पहली गगनचुंबी इमारत शिकागो में बांधी गई होम इंश्योरेंस की बिल्डिंग को कहां जाता है. यह इमारत 1885 में बनकर पूरी हो गई थी. जिसमें स्टील फ्रेम पर दीवारों का निर्माण का उपयोग किया गया था.

2.   बुर्ज खलीफा दुनिया की सबसे ऊंची और गगनचुंबी इमारत बन चुकी है.

3.   शंघाई टावर में स्थित दुनिया की सबसे तेज लिफ्ट बनाई गई है.

4.   दुनिया में सबसे ज्यादा गगनचुंबी इमारतों की संख्या एशिया में ही है.

5.   दुनिया में 308 की संख्या के साथ हांगकांग में अन्य शहरों की तुलना में सबसे अधिक गगनचुंबी इमारतें हैं.

6.   चीन में एक 57 मंजिला गगनचुंबी इमारत सिर्फ 19 दिनों में बनाई गई थी.

skyscraper diwas kaise manaye

यदि आप गगनचुंबी इमारत दिवस मनाना चाहते हैं, तो यह बहुत ही आसान होगा. इसके लिए आपको बस इसके सबसे ऊंची मंजिल से आप शेष छोटी मंजिल  इमारत का अच्छा सा व्यू देख सकते हैं. आपको तो पता ही होगा कि जैसे कई गगनचुंबी इमारतों की शीर्ष मंजिल पर रेस्तरां या फिर कैफे होता है. तो आप इसके सबसे ऊंची मंजिल पर जाकर यहां के भोजन का स्वाद जरूर चखना चाहोगे ना?

ऐसी वस्तु के चमत्कारों के पीछे छिपा हुआ विज्ञान और इंजीनियरिंग के बारे में भी आप अधिक जानकारी ले सकते हैं. साथ ही आप ऐसे कई ब्लॉक या अन्य सामग्री का उपयोग करते हुए खुद भी गगनचुंबी इमारत और उसका शहर भी बना सकते हैं. ताकि आप भी गगनचुंबी इमारत के बारे में अधिक जानकारी सीख सकें. साथ ही आप ट्विटर पर  #skyscraperday   के बारे में सर्च करते हुए और अपने दोस्तों के साथ इसे साझा करते हुए, इस दिवस को मना सकते हैं.

हमारा गगनचुंबी इमारत दिवस पर आधारित skyscraper diwas का लेख अगर आपको पसंद आ गया हो, और आप भी अच्छी और बड़ी गगनचुंबी इमारत बनाने के लिए उत्सुक है, तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करते हुए हमें जरूर बताएं!


इस तरह के विविध लेखों के अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज ssoftgroup लाइक करे.


WhatsApp पर दैनिक अपडेट मिलने के लिए यहाँ Join WhatsApp पर क्लिक करे

Worth-to-Share

One Comment

  1. Anant Anant

    सचमें scyscrapper diwas से मुझे नई इमारतों के बारे में काफी जानकारी मिली👍👍

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *