Press "Enter" to skip to content

२१ मई: नोटबुक दिवस (Notebook Day) – दिनविशेष

नोटबुक दिवस एक ऐसी छुट्टी का दिवस है जो हमें यह निश्चित रुप से ध्यान रखने के लिए कहता है कि इस दिन उपाख्याओं, टिप्पणियों एवं संस्मरणों के साथ दुनिया को लिखने का प्रयास करते रहना चाहिए.

संभवतः हममें ऐसा कोई नहीं होगा जिसने अपने जीवन में कुछ खास मौकों पर या अपने कॉलेज जीवन में कविताएं या कुछ पत्रिकाएं नहीं लिखी होगी. हां, इसे हम टिप्पणियां ही कहेंगे जिसकी आपने युवा जीवन में अनुभूति ली थी और इन्हीं चीजों को नोटबुक दिवस पर याद करने का समय है.

नोटबुक दिवस का इतिहास

नोटबुक दिवस का उद्घाटन 2016 में दुनिया को पत्रकारिता के महत्व के बारे में बताने के लिए और सबको इसके बारे में जानकारी देने के लिए किया गया है.कस्टम नोटबुक कंपनी के सीईओ मीका मई कहते हैं की, “नोटबुक और प्लानर हमारे समुदाय में बहुत जीवंत रही प्रतिमाएं हैं.

कुछ भी हो लेकिन हमारे ग्राहक पिछले कुछ वर्षों में कागज पर लिखने के लिए और भी अधिक समर्पित हो गए हैं. किसी कागज पर लिखे हुए लेख में जो लिखावट होती है, उसका मजा डिजिटल संचालित एप्स पर कभी नहीं आ सकता.

कागज पर लिखे लेख पढ़ने में एक अलग तरह का मजा आता है, जो किसी फोन पर या लैपटॉप में लिखें लेख में नहीं होता.वैज्ञानिक अध्ययनों ने भी यह बात साबित की है कि आपके मानसिक स्वास्थ्य पर जर्नलिंग अर्थात लेख लिखने का बहुत ज्यादा गहरा और अच्छा असर होता है.

अपने विचारों को किसी कागज के टुकड़े पर विभाजित करते हुए उन्हें लोगों तक पहुंचाना बेहद चिकित्सकीय और आनंददायी होता है. यह आपके दिमाग में भी अच्छे विचारों को एक नई बुलंद जगह दे सकता है. उसको बस किसी पोस्ट पर अपने विचारों को लिखना है और आपकी मानसिक शक्ति का चमत्कार देखना है.

नोटबुक दिवस हमें अपने विचारों को सुनिश्चित कल्पनाओं के साथ प्रज्वलित करने में मदद कर सकता है और आमतौर पर हमें अपने आसपास के नकारात्मक विचारों के बवंडर से थोड़ा समय निकालने में भी सहायता करता है.

Notebook Day कैसे मनाएं

नोटबुक दिवस मनाने का सबसे अच्छा और बेहतरीन तरीका यही है कि आप किसी नोटबुक में अपने दिन के सभी विचारों और चिंताओं को लिखना शुरू करें और उन्हें एक ऐसा प्रारूप दे जो प्रबंधकीय हो. आपके मन में जो भी विचार आएं, अच्छे या बुरे, उन्हें बस लिखते जाएं और इस तरह पूरे विस्तार से लिखें की उसकी एक नियमित या अर्ध-नियमित कहानी भी विकसित हो सकें. साथ ही, यह आपके कठिन या सुस्त दिवस को एक अच्छे और बेहतरीन दिन में स्थानांतरित करने में बहुत सहायता करेगा.

यदि आप टेक्नोसैवी व्यक्ती है और अपनी स्क्रीन से थोड़ा समय निकाल कर अपना ध्यान किसी वस्तू पर  केंद्रित करना चाहते हैं और कंप्यूटर के उपयोग से घंटों बाद जो आंखों पर तनाव आता है उससे बचना चाहते हैं, तो अपने नोटपैड पर या अपनी टू डू सूचियों में अपने विचारों को लिखकर सेव कर सकते हैं.

यदि आप नियमित ब्लॉगर हैं और आपका लैपटॉप बंद हो जाता है या उसके बैटरी की चार्जिंग खत्म हो जाती है तो आप हमेशा अपने विचारों को शांति से किसी भरोसेमंद नोटबुक में भी लिख सकते हैं.

हमारा यह ‘नोटबुक दिवस’ पर आधारित दिनविशेष का लेख पूरा पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद! हम आपके लिए रोज ऐसेही अच्छे लेख लेकर आते है. अगर आपको यह लेख पसंद आता है तो फेसबुक और व्हाट्सएप पर अपने दोस्तों को इसे फॉरवर्ड करना ना भूले. साथ ही हमारी वेबसाइट को रोजाना भेंट दे.

इस तरह के विविध लेखों के अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज ssoftgroup लाइक करे.


WhatsApp पर दैनिक अपडेट मिलने के लिए यहाँ Join WhatsApp पर क्लिक करे

Worth-to-Share
Learn more, spend less. Get top courses for as little as ₹ 455