National Grammar Day | राष्ट्रीय व्याकरण दिवस – 4 March

national grammar day : दोस्तों आज 4 मार्च के दिन हम सब national grammar day | राष्ट्रीय व्याकरण दिवस मनाने जा रहे हैं. हम यह बात तो जानते हैं कि दुनिया में कई देशों की भाषाएं हैं और उनके अलग-अलग व्याकरण भी होते हैं. भाषा का व्याकरण इस वजह से होता है क्योंकि जब भी हम कोई विचार या सुझाव या फिर बात करना चाहते हैं तब उस बात को भाषा के किसी नियम में बांधा जाना चाहिए.

और अगर भाषा की ऐसे नियम नहीं होंगी तो लोग एक दूसरे से किस तरह से बात कर रहे हैं इसका कोई भी पता नहीं चल सकेगा. और साथ ही साथ जब कोई व्यक्ति किसी भी भाषा को सीखना चाहता है तो उसे यह व्याकरण के नियम ही उस भाषा को और उसकी प्रणाली को समझने के लिए उपयुक्त होते हैं. और इसी वजह से भाषा की प्रकृति एवं उसकी प्रशंसा के लिए व्याकरण एक बहुत ही महत्वपूर्ण सहायता करता है.

और इसी वजह से आज के इस national grammar day पर हम इसके नियमों की ही अच्छी तरह से जानकारी ले सकते हैं. अगर हम अंग्रेजी भाषा के बारे में और उसके व्याकरण के बारे में जानकारी लेना चाहें तो हमें यह बात ज्ञात होगी. जिस प्रकार से अंग्रेजी भाषा के लिए ग्लोबल लैंग्वेज मॉनिटर ने यह कहा है कि अंग्रेजी भाषा में लगभग 1 मिलियन से ज्यादा शब्दों की संख्या है. तो चलीये ऐसी ही भाषाओं के व्याकरण के बारे में और अधिक बेहतर ढंग से जानने की कोशिश करें.

national grammar day ka itihas

national grammar day | राष्ट्रीय व्याकरण दिवस पर इस दिवस के इतिहास के बारे में जानेंगे. हम आपको बताना चाहते हैं कि व्याकरण दिवस की स्थापना 2008 में मार्था ब्रोकेनब्रॉज इन्होंने की थी. उन्होंने यह घोषणा की थी कि सभी तरह के विशेषण क्रियापद संज्ञा एक दूसरे के लायक होने चाहिए और अपने अधिकारों के लिए उन्हें कभी खोना नहीं चाहिए.

वैसे तो हमें किसी को किस तरह की भाषा का उपयोग करना चाहिए इसमें हमें कोई सुझाव देना नहीं चाहिए. लेकिन जब बात उस भाषा के व्याकरण की आती है तो इंसान उसके व्याकरण को नहीं जानता है उसे अच्छी तरह से वह व्याकरण बताना भी उस भाषा को जानने वाले का काम होता है.

और इसी वजह से दुनिया में भाषाओं की और उनके व्याकरण के नियमों की एक अलग प्रणाली और संरचना बनाई गई है. जिसका उपयोग करते हुए हमें उस नई भाषा को और अधिक बेहतर ढंग से समझने में और सीखने में आसानी होती है.

national grammar day kaise manaye

national grammar day | राष्ट्रीय व्याकरण दिवस पर इस दिवस को कैसे मनाना है इसके बारे में देखेंगे. अगर देखा जाए तो इस दिवस को मनाना हमारे लिए कई मायनों में आसान होता है. हम अपनी किसी भी व्याकरण के रूप को अतिरिक्त प्रयास से किसी भी एक भाषा के लिए उसकी जागरूकता जरूर बना सकते हैं.


और इसी के साथ हम आपको बताना चाहते हैं कि आप इस national grammar day पर कुछ अपने पसंदीदा नया ब्लॉग या फिर कोई किताब जरूर पढ़ें. और इसी तरह से आपको हर रोज नए शब्द पर लिखी हुई शायरियां पढ़ना पसंद है तो आप हमारी shayari sukun इस वेबसाइट को एक बार जरूर विजिट करें. ताकि आपको कुछ नायाब तरह की शायरियां पढ़ते हुए कुछ नए शब्द और वाक्यांश जरूर सीखने के लिए मिलेंगे.

इसी के साथ आप अपनी मातृभाषा को छोड़कर किसी भी दूसरी भाषा की हर रोज 2 या 3 शब्द जरूर पढ़ें लिखें एवं याद भी करें. यह आपके अलग भाषा के ज्ञान को तो बढ़ावा देगा ही लेकिन साथ ही साथ आपकी बौद्धिक विकास के लिए यह बात बहुत महत्वपूर्ण साबित होगी.

और इसी के साथ आप हर रोज किसी दूसरी भाषा जानने वाले इंसान के साथ कुछ देर के लिए ही सही लेकिन बात जरूर करें. ताकि आप उस भाषा के शब्द के साथ-साथ उसकी व्याकरण एवं उनके उच्चारण को भी अच्छी तरह से समझ सकेंगे.

और साथ ही आपको उस भाषा की अधिक जानकारी मिलते हुए उसने रुचि जरूर बढ़ेगी. साथ ही साथ अगर आप इस दिवस के बारे में कुछ लेख या फिर पोस्ट लिखते हुए सोशल मीडिया पर भी शेयर करना चाहते हैं तो आप #nationalgrammarday को जरूर टैग करें.


हमारा यह national grammar day पर आधारित लेख अगर आपको पसंद आया हो और साथ ही आपने भी कुछ ऐसे ही नायाब भाषाओं के व्याकरण को सीखने की तैयारी कर ली हो तो हमें नीचे कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं.


इस तरह के विविध लेखों के अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज ssoftgroup लाइक करे.


WhatsApp पर दैनिक अपडेट मिलने के लिए यहाँ Join WhatsApp पर क्लिक करे

national grammar day

Leave a Comment