Press "Enter" to skip to content

३० मई: लूमिस दिवस (Loomis Divas) दिनविशेष

Loomis Divas: दोस्तों, आज 30 मई के दिन हम ‘लूमिस दिवस’ (Loomis Divas) मनाने जा रहे हैं. वह आदमी ही है, जो इस दुनिया में होनेवाली हर चीज के लिए जिम्मेदार होता हैं. लेकिन वह उसके दीर्घकालीक प्रभावों को देख सकता हैं, जिन्हें कई चीजों के लिए किसी चीज के बाद आना था और उसे पारित करने के लिए कोई डिज़ाइन तैयार किया था. 

समय की परिपूर्णता में वायरलेस टेलीग्राफ के निर्माण ने दुनिया को पूरी तरह से बदल दिया है. इसी वजह से 1886 में एक अमेरिकी दंत चिकित्सक को यह सब एक गति में सेट करना था. लूमिस दिवस, Loomis Divas महालोन लूमिस, वाशिंगटन डीसी के विनम्र दंत चिकित्सक को मनाता है. उन्होंने ही इसेे बनाया, जिससे पूरी दुनिया बदल गई. 

लूमिस दिवस का इतिहास (Loomis Divas ka itihas)

कई चीजों के साथ हम दिवस का इतिहास मनाते हैं. वास्तव में यह एक आदमी और एक घटना का इतिहास है, जिसने आने वाले दिनों को किस तरह बदल दिया, यह बताया गया है. महालोन लूमिस Loomis 1800 के शतक में एक दंत चिकित्सक थे, जिनके पास एक ऐसा विचार था, जिसका दांतो से कोई लेना-देना नहीं था.

लेकिन वह वायुमंडल के विद्युत गुणों के बारे में जानता था. जैसे टेस्ला में हवा के माध्यम से किसी दूर स्थान पर भी बिजली संचारित करने के लिए एक विचार की कल्पना की थी. उनका विचार शायद थोड़ा सा दूर था. उन्होंने दो धातु के टावरों के बीच एक विद्युत नली बनाने के लिए वायुमंडल की एक परत को चार्ज करने का विचार किया, जो माउंटेन टाउन (ध्वनी परिचित) पर उच्च तरीके से सेट किया गया था. 

इस पूरी प्रक्रिया के बारे में जो बात हमें दिलचस्प लगती है यह है कि अंत में लूमिस Loomis के सिद्धांत नहीं है तो वातावरण कैसे काम कर सकता है और वास्तव में उनका अपना तंत्र किस तरह से काम करता है जिसे पूरी तरह हम गलत बता सकते हैं.लूमिस Loomis एक स्थान से दूसरे स्थान पर सूचनाओं को सफलतापूर्वक प्रसारित करने में सक्षम था, लेकिन जिन कारणों से उसने काम किया, वे कारण उसके नहीं थे. 

उन्होंने महसूस किया कि दो पतंग जो कई मील दूर दूरी पर एक ही ऊंचाई पर उड़ती है, आइनोस्फीयर के माध्यम से डीसी सर्किट स्थापित करने और इस प्रकार की जानकारी प्रसारित करने में वह सक्षम होगा. उसका परिणाम भी वही हुआ जिसकी उन्हें उम्मीद थी. 

हालांकि उसका कारण पूरी तरह से गलत था. हम जानते हैं कि डीसी के माध्यम से एक विद्युत परिपथ बनाने का उनका विचार काम नहीं करेगा, क्योंकि उन्होंने इसका वर्णन किया था कि क्या होने की संभावना थी. एक पतंग एक ही ऊंचाई पर इनका उपयोग संचालित करने और जानकारी प्राप्त करने के लिए किया जा रहा है.

इसलिए वह समान आकर कहीं होना चाहिए. इसका अर्थ यह है कि प्रेषित पतंग से भेज जाने वाली संकेत दूसरे छोर पर प्राप्त होने वाले सही आवृत्ति का होगा. संक्षेप में यह कहा जा सकता है की उनकी सोच किस तरह की होगी. जो उन्होंने सोचा वह किया. 

लूमिस दिवस कैसे मनाए (Loomis divas kaise manaye)

लूमिस दिवस (Loomis Divas) इस विचार को मनाने का सबसे अच्छा समय है. जिस तरह से विचार करने के लिए इस आदमी की खोज की, उसने पूरी दुनिया को आकार देने में मदद करने के लिए किया, जिस कारण आज हम सब जी रहे हैं. टीवी, रेडियो यहां तक कि आपके वाईफाई सिग्नल को भी वायरलेस माध्यम से भेजा जा सकता है.

टेक्नोलॉजी पर एक पतंग के साथ एक माउंटेनटॉप पर खड़े आदमी और तार के लिए उसे उतारा गया है. इस तरह आप उनके विचार को सोच सकते हैं और लूमिस दिवस (Loomis Divas) अच्छी तरह से मना सकते हैं.

हमारा यह ‘(Loomis Divas)’ पर आधारित दिनविशेष का लेख पूरा पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद! हम आपके लिए रोज ऐसेही अच्छे लेख लेकर आते है. अगर आपको यह लेख पसंद आता है तो फेसबुक और व्हाट्सएप पर अपने दोस्तों को इसे फॉरवर्ड करना ना भूले. साथ ही हमारी वेबसाइट को रोजाना भेंट दे. 

इस तरह के विविध लेखों के अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज ssoftgroup लाइक करे.


WhatsApp पर दैनिक अपडेट मिलने के लिए यहाँ Join WhatsApp पर क्लिक करे

Worth-to-Share

Comments are closed.