Look up at the Sky Day | आसमान को देखने का दिन

look up at the sky day : आज इस 14 अप्रैल के दिन हम सब look up at the sky day | आसमान को देखने का दिन मनाने जा रहे हैं. इस दिन को कैसे मनाना है यह छोटे बच्चों को बताने की बिल्कुल जरूरत नहीं होती है. 

क्योंकि याद कीजिए जब हम भी छोटे थे. तब हमें दिन भर यूं ही आसमान को निहारना बहुत अच्छा लगता था. फिर चाहे सूरज हमारी आंखों पर चमक कर हमारी आंखें क्यों ना दुखने लगे. 

लेकिन फिर भी हम हैं सूरज और आसमान की तरफ देखना छोड़ते नहीं थे. देखा जाए तो एक तरह से यह बहुत अच्छी आदत थी. क्योंकि इस वजह से हमें आसमान को निहारने का एक बहुत अच्छा मौका मिलता है. 

और साथ ही हमें आसमान में कई सारे नए-नए पंछी या कभी कबार हवाई जहाज भी दिख जाते है. या फिर कुछ नहीं तो हम बादलों की अलग-अलग छटाओ को और रंगों को देख कर खुश हो सकते हैं. 

और साथ ही अगर आप किसी ऊंचाई पर खड़े हैं तो आपको आकाश का एक गोल गुंबद भी नजर आ सकता है. अर्थात आप एक सिरे से लेकर दूसरे सिरे तक जब देखते हैं तब यह नजारा आपको दिखाई देता है.


why sky is blue coloured? आखिर आसमान नीला ही क्यों दिखाई देता है?

क्या आपने कभी आसमान को देखकर सोचा है कि वह नीला ही क्यों दिखाई देता है? अगर आपको इस बात का उत्तर पता नहीं है तो हम आपको बताना चाहते हैं. 

दरअसल यह परिणाम rayleigh scattering के कारण होता है. आपको यह बात तो पता ही होगी कि सूरज की रोशनी हमें सफेद दिखाई देती है. लेकिन इसमें सात रंगों का मिश्रण होता है. 

और साथ ही इन सभी रंगों के अलग-अलग तरंगदैर्ध्य (wavelength) होते हैं. उदाहरण के लिए देखे तो नीले और बैंगनी रंग की तरंग दैर्ध्य कम होती है. साथ ही लाल एवं पीले रंग की तरंग दैर्ध्य लंबी होती है. 

जब भी सूरज की किरने पृथ्वी के वायुमंडल में प्रवेश कर जाती है. तब इस वायुमंडल की हवा के अणु अलग-अलग तरंगदैर्ध्य को बिखेरते हैं. और इसी वजह से दोपहर के समय सूरज की गर्मी सबसे ज्यादा होती है. 

तब हवाओं के अणु नीली एवं बैंगनी रंग की तरंग दैर्ध्य को सबसे ज्यादा बिखरते हैं. इसी वजह से हमें आकाश नीला दिखाई पड़ता है. और इससे विपरीत जब सुबह या शाम के समय में हवा में अणु की संख्या बहुत ज्यादा होती है. 

तब इस नीले एवं बैंगनी रंग का तरंगदैर्ध्य हम तक पहुंचने से पहले ही कम हो जाता है. और उस वक्त लाल एवं पीले रंग के तरंगदैर्ध्य हम तक पहुंचता है. और हमें इन दोनों समय पर आकाश की छटा लाल एवं पीली दिखाई देती है.


look up at the sky day ka itihas

look up at the sky day | आसमान को देखने का दिन पर इसके इतिहास के बारे में जानेंगे. इस दिन के निर्माणकर्ता के बारे में तो पता नहीं है. लेकिन इसका निर्माण बहुत अच्छी सोच के साथ किया गया है. 

क्योंकि लोग अपने कामों में हर वक्त व्यस्त रहते हैं. उन्हें कुछ समय निकालकर कम से कम इस दिन पर बाहर आना चाहिए. और साथ ही अपने बच्चों के साथ मिलकर आसमान की तरफ देखना चाहिए. 

ताकि आप और आपके बच्चे भी प्रकृति का मजा ले सके. यह दिवस आपको बहुत ही छोटी लेकिन उतनी ही महत्वपूर्ण सोच देता है. 

वह यही होती है कि आप अपने व्यस्त समय से कुछ समय खुद के लिए भी निकालें. और छोटी छोटी चीजों में भी बड़ा आनंद लेने का अवसर ढूंढे.

look up at the sky day kaise manaye

look up at the sky day | आसमान को देखने का दिन पर उसे कैसे मनाना है इसके बारे में देखेंगे. आप किस दिन को बहुत सरल एवं मजेदार तरीके से बना सकते हैं. 

इसके लिए आपको शाम के समय या फिर रात का मौका उठाना चाहिए. इस वक्त आप अपने परिवार एवं दोस्तों के साथ अपनी छत पर जरूर जाए. और आसमान को निहारते हुए लेट जाएं. 

और अपने दोस्तों एवं परिवार वालों के साथ बातचीत करते हुए इस दिन का मजा ले सकते हैं. अगर आप या फिर कॉलेज में पढ़ाई करते हैं. तो आपको आसमान से संबंधित किसी विषय पर बातचीत करनी चाहिए. 

और साथ ही अपने आसपास के लोगों को भी प्रकृति की सानिध्य के बारे में जरूर बताना चाहिए. ताकि लोग भी इन सभी चीजों के बारे में अधिक जानकारी ले सकें. इस दिन को आप सोशल मीडिया पर #lookupattheskyday को टैग करते हुए जरूर मना है मनाएं.

हमारा यह look up at the sky day पर लेख अगर आपको पसंद आया हो. और आपने भी अपने दोस्तों के साथ ही से मनाने का निश्चय कर लिया हो, तो हमें comment box में comment करते हुए जरूर बताएं.

इस तरह के विविध लेखों के अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज ssoftgroup लाइक करे.


WhatsApp पर दैनिक अपडेट मिलने के लिए यहाँ Join WhatsApp पर क्लिक करे

Look up at the Sky Day

Leave a Comment