6 Feb 2021: lace day | लेस दिवस

lace day : दोस्तों आज 6 फरवरी के दिन हम सब lace day | लेस दिवस मनाने वाले हैं. आप इस लेस को फीता भी कह सकते हैं. अगर आपने इसे किसी कपड़े में बंधी हुई देखी है तो आपको यह बहुत ही फैशनेबल एवं लुभावनी जरूर लगी होगी. यह हमेशा किसी पलंग की या फिर अच्छे से मखमली कपड़े के नीचे छटनी करते हुए लगाया जाता है.

और इसे लगाते ही उस कपड़े की दमखम ही और उसके कुशलता एवं सुरुचि पूर्णता और निपुणता आ जाती है. और इसी वजह से आज का यह लेस दिवस इस उत्पाद की इतिहास एवं कौशल का जश्न मनाने के लिए ही बनाया गया है. आपको पता ही होगा कि यह तो 6 फरवरी को इसे एक वार्षिक अवलोकन दिवस के रूप में हर साल मनाया जाता है.

और अगर आपने ध्यान से देखा होगा तो आपको जरूर पता होगा कि लेस एक बहुत ही नाजुक सा प्रकार का कपड़ा होता है. यह अपनी ही कोमलता एवं ना झुकता के लिए और साथ ही नई फैशन के लिए किसी कपड़े में जोड़ कर उस कपड़े की शान बढ़ाता है. यूं तो इसका निर्माण आजकल मशीनरी ने किया जाता है.

लेकिन इतिहास में हम अगर झांकी तो हमें या ज्ञात होगा कि तब यह सारा मामला हस्तनिर्मित चीजों का था. इसी अपनी लोकप्रियता के लिए एक विशेष उत्सव के रूप में ही मनाया जाता है. और साथ ही इसे बनाने के लिए कई तरह के कुशल कारागीर एवं कामगारों की हाथ और उन्हें प्रोत्साहित करने के लिए लोग चाहिए होते हैं.

lace day ka itihas

lace day | लेस दिवस पर हम आपको इसके इतिहास के बारे में बताना चाहेंगे. लेस दिवस की उत्पत्ति का इतिहास उसके सेलिब्रेशन में ही जैसे अज्ञात है. क्योंकि अगर देखा जाए तो इस दिवस का विशेष रूप से इतिहास में कोई उल्लेख नहीं है. यह देश की धागे नाजुक जाल से बने हुए होते हैं जिन्हें या तो हाथ से या फिर मशीन से बनाना पड़ता है.

इसमें रेशम सोना चांदी या फिर लेनन के धागों का उपयोग किया जाता है. लेकिन कई बार यह फीता सूती धागों से भी बनाया जाता है. आधुनिक कलाकार फाइबर सिंथेटिक से बने हुए धागों का भी इता बनाने के लिए उपयोग करते हैं. और साथ ही कई बार चांदी एवं तांबे को मिला कर भी लेस को बनाया जाता है.

अगर यह अलग अलग तरीके से किसी सोफा या डाइनिंग टेबल या फिर मेज पर डालने के लिए बनाया जाए तो यह बहुत ही आकर्षक एवं लुभावना लगता है. आपने अक्सर ही किसी के घर पर या फिर अपने खुद के घर पर भी इसे लाया होगा. यूं तो हम कह सकते हैं कि इसके इतिहास और वास्तव में कोई ज्ञान नहीं है.

लेकिन आपको हम बताना चाहते हैं कि इसका 16वीं शताब्दी में बहुत ज्यादा पैमाने पर उत्पादन किया गया था. अगर आपने इसे देखा नहीं होगा लेकिन घर सजाने के लिए भी फीता का बहुत ज्यादा उपयोग किया जाता है. क्योंकि यह लड़कियों एवं महिलाओं को बहुत ज्यादा प्रयोग होता है इसी वजह से उनकी हर एक कपड़े में या फिर आमतौर पर डोली में भी इसे हमेशा लगाया जाता है.

lace day kaise manaye

lace day | लेस दिवस कैसे मनाए आइए जाने. अगर आपने किसी चीज वस्तु में एक फाइबर के आर्ट को देखा होगा तो आपको इसके बारे में जरूर प्रशंसा करने का मन होगा. दिवस आपको फीता के प्रोत्साहन के लिए मदद करता है. मुझे से आपको फिक्की धीरे की और उसके साथ कुछ समय के लिए अनिवार्य रूप से लायक होना आवश्यक होता है.

जब आप अपने जीवन में संभावनाएं और उनकी सजावट का उपयोग करते हुए आनंद लेंगे तभी आपको उसका महत्व समझेगा. साथ ही आपने सोफे कपड़े एवं कई तरह की वस्तुओं में फीता का सार्वजनिक उपयोग भी जरूर देखा ही होगा. लेकिन इनका उपयोग करते हुए आपको इन्हें अच्छी स्थिति में रखने के लिए बहुत ज्यादा सावधानी बरतनी पड़ेगी. साथ ही अगर आपको सोशल मीडिया पर भी मनाना है तो आप उसे #laceday टैग करते हुए जरूर मना सकते हैं.

हमारा यह लेस दिवस पर आधारित लेख अगर आपको पसंद आया हो और आपने भी एक अच्छी सी लेस तैयार करते हुए इसे मनाने का निश्चय कर दिया हो, तो हमें कमेंट सेक्शन में बताते हुए जरूर सूचित कीजिएगा.


इस तरह के विविध लेखों के अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज ssoftgroup लाइक करे.


WhatsApp पर दैनिक अपडेट मिलने के लिए यहाँ Join WhatsApp पर क्लिक करे

lace day

Leave a Comment