Press "Enter" to skip to content

११ जून: खेत मजदूर दिवस (Khet majdur divas) दिनविशेष

Khet majdur divas :   दोस्तों आज 11 जून के दिन हम Khet majdur divas मनाने जा रहे हैं. यह दिवस उन सभी कठिन परिश्रम का काम करन वाले लोगों के लिये जश्न मनाने का दिवस है. Khet majdur divas अपने सारे किसान भाइयोंं को समर्पित है, जो हम सबके लिए ताजा सब्जियांं, जड़ी बूटियां आदि उगाते हैं.  

ठीक ऐसेही अगर हम खुद ही हमारी सब्जियां ताजी उपज करते तो हमारे लिए यह बहुत कठिन काम होता. हालांकी, यह हमें जरूर याद रखना चाहिए कि हम इतने भाग्यशाली हैं. हम अपने भोजन के लिए किसी किसान भाई पर ही निर्भर है.

किसान भाई हमारे लिये हमेशा से ताजी सब्जियां और अन्य अन्न पदार्थ की पदार्थों की उपज करते हैं. हमें तो बस किसी सुपर मार्केट में पैक किया हुआ सामान लेना ही याद होता है. Khet majdur divas हमें हमारे किसान भाइयों को धन्यवाद देने के लिए जरूर मनाना चाहिए.

Khet majdur divas ka itihas

मजदूर और किसान भाई अक्सर सूर्योदय से लेकर सूर्यास्त तक अपने खेत पर ही काम करते होते हैं. इसलिए यह कोई आश्चर्य की बात नहीं होनी चाहिए कि जिसमें हम उनके लिए एक दिन मना सकें.

खेती यह एक ऐसा विषय है जो कृषी मानवता को संपन्न रखने का एक बहुत बड़ा हिस्सा रहा है. क्योंकि पुराने जमाने से ही मानव भोजन की खेती करने के लिए पर्याप्त बुद्धिमान था. वास्तव में खेती को नवपाषाण युग में वापस लाने के लिए किया गया था. सदियों से आदिमानव खेती में की गई उपज पर ही निर्भर रहा है और आज भी यही करता है. 

जहां तक हम जानते हैं पहले समाज के लोग बड़े पैमाने पर खेती करने में सक्रिय थे. उसमें सुमेरियन भी शामिल थे. इनके पास खेती में बहुत बड़ी विशेषता हासिल थी.उन्होंने अपनी फसलों को उगाने के लिए सिंचाई के अलग-अलग तरीकों का निर्माण किया और इस्तेमाल भी किया. साथ ही पूरे साल भर सख्त कटाई की पद्धति भी इजाद की.

ध्यान देने की बात ये है कि,खेत में काम करने वालेफसल उगाने वाले और अपने जानवरों की देखभाल करते हुए उन्हें बड़ा करने वाला करने वाले हमारे किसान भाई ही होते हैं.प्रौद्योगिकी में प्रगति के साथ, विशेष रुप से खेती में कहे तो पिछली शताब्दी में कृषि श्रमिकों में अपने काम को और भी अधिक विशिष्ट किया गया है.

जब हम किसी खेत मजदूर के बारे में सोचते हैं, तो इसका मतलब यह हो सकता है कि कोई व्यक्ति अपनी खुद की खेती में काम कर रहा हो या फिर किसी दूसरे की व्यक्ति में खेत में काम पर रखा गया हो.लेकिन इसमें उसका भी सहयोग और किराया उससे मिलना चाहिए. इसमें खेती का उत्पादन भी शामिल हो सकता है. 

चाहे वह धूप हो, बारिश हो या फिर ठंड हो इन सभी प्रकार के वातावरण में काम करने वाला हमारा किसान भाई ही होता है. आजकल विदेशों में खेती में काम में आने जाने वाली बहुत बड़ी बड़ी मशीनरी का उपयोग किया जाता है. भारत जैसे देश में जहां पर आज भी 

Khet majdur divas परभी, खेती में मनुष्य और जानवरों के द्वारा ही सारे काम किए जाते हैं.  इसलिए इन सारे मजदूरों और किसान भाइयों को उनकी मेहनत के लिए ही धन्यवाद देने के बारे में आज का दिन जरूर मनाया जाना चाहिए.

Khet majdur divas kaise manaye

किसानों और खेत मजदूरों का समर्थन करना ही इस दिन को मनाने का एक शानदार तरीका हो सकता है. या फिर आप कुछ कृषि दान के लिए धन उठाने का विकल्प भी चुन सकते हैं. या उन्हें स्वयं दान कर सकते हैं. Khet majdur divas के मौके पर आप भी किसी खेत में जा सकते हैं.

कई लोगों के पास खेत का सामान मिलने वाली दुकान भी होती है. जिससे आप कुछ बीज लेकर सीधे खेत में उन्हें बो सकते हैं. जिससे कुछ दिनों बाद ताजा उत्पाद एवं सब्जियां मिल सके. अगर आप यह कुछ नहीं कर सकते तो कम से कम सुपर मार्केट से जब भी कुछ सब्जियां खरीदें, तो जिन किसान भाइयों से सब्जीयां ले रहे हैं, उनके प्रति सचेत रहें.

उन्हें समय पर और जितने पैसों में बेचना चाहे उतने में वह सब्जी बिना किसी झिकझिक के खरीदें. यही Khet majdur divas पर इन सभी मजदूरों और किसान भाइयों को अच्छी भेंट होगी.


इस तरह के विविध लेखों के अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज ssoftgroup लाइक करे.


WhatsApp पर दैनिक अपडेट मिलने के लिए यहाँ Join WhatsApp पर क्लिक करे

Worth-to-Share

Comments are closed.