3 Nov: housewife’s day | गृहिणी दिवस

housewife’s day : नमस्ते दोस्तों जैसा कि आप जानते हैं कि 3 नवंबर के दिन हम housewife’s day | गृहिणी दिवस मनाने जा रहे हैं. इसके पहले कि हम लेख को शुरुआत करें हम आपसे जानना चाहते हैं कि क्या आप घर में रहने वाली एक मां या फिर कोई सम्मानित गृहिणी हो?

अगर आप मानती हैं कि आपके प्रयासों की सराहना सभी लोगों से होनी चाहिए तो आपको इस दिवस का महत्व समझना पड़ेगा. क्योंकि इस दिवस पर अगर आप चाहती हैं कि आपकी प्रयासों की जितनी सराहना की जाए कम है और उतनी हो नहीं पाती है तो आज का यह गृहिणी दिवस (housewife’s day) आपको इसी भावना में लड़ने के लिए मदद कर सकता है.

अगर आप किसी गृहिणी के पति है जिसका आपके घर पर नियंत्रण है और सभी से अच्छी तरह से व्यवहार ना करने का आरोप लगाया है तो आपके लिए ही यह दिन बनाया है. आपको पता होगा कि किसी भी गृहिणी के सम्मान की इरादे से समाज की उन्नति होती है.

साथ ही आपने देखा होगा कि कई लोगों के प्रति दिन भर सोते रहते हैं या फिर अपना समय यूं ही व्यय करते हैं. उन सभी लोगों की लोकप्रियता को वास्तव में लाना ही इस दिवस का महत्व है.

housewife’s day ka itihas

गृहिणी दिवस (housewife’s day) पर हम आपको इसके बारे में अधिक जानकारी और इतिहास बताना चाहते हैं. खाना कि आपको पता होगा कि ऐसी कई घटनाएं होती है जिनमें वास्तव में किसी गृहिणी का कोई संबंध नहीं होता. लेकिन फिर भी अप्रत्याशित रूप से सदियों से गृहिणी की विशालता को मनाने पर प्रतिबंध लगाया जा रहा है. वास्तव में यह तो हमारे समाज की विडंबना ही है जो हमें सभी तरह की समानताएं दिखाने का एक अच्छा मार्ग बता दी है.

लेकिन जब इस बात की आवश्यकता जहां पर होती है वहां पर इस समानता की बात पर चुप्पी साध ली जाती है. आपको तो पता ही होगा कि सदियों से किसी भी स्त्री को एक गुलाम की तरह माना गया है. उन्हें किसी भी तरह की कोई विशेषाधिकार नहीं दिए गए थे. किसी भी तरह का इंसान फिर चाहे वह राजा हो समाज में रहने वाला कोई व्यक्ति हो या फिर उसका पति ही क्यों ना हो. इन सभी लोगों का किसी भी स्त्री पर जैसे एक विशेषाधिकार प्राप्त था.

वह चाहे जिस स्त्री को उठाकर अपने लिए इस्तेमाल कर सकते थे. और पुरुषों का अहंकार उन दिनों से आज तक स्त्रियों के प्रति अपने लांछन लगने जैसी कार्यों को जारी रखे हुए हैं. आज का यह गृहिणी दिवस (housewife’s day) उन सभी लोगों के मुंह पर एक जैसे चांटा है जो स्त्रियों को ऐसे सिर्फ उपभोग की वस्तु समझते हैं. आपको हर वक्त किसी भी स्त्री के साथ एक मर्यादा से ही व्यवहार करना चाहिए. तभी हम कह सकते हैं कि हमारा समाज समानता के रूप से विकास की ओर बढ़ रहा है.

housewife’s day kaise manaye

गृहिणी दिवस (housewife’s day) पर हम इस बात की जानकारी लेंगे कि इस दिवस को किस तरह से बनाया जा सकता है. आपको पता होगा कि किसी भी गृहिणी को उसकी कामों कि अगर सराहना मिल जाए तो जैसे उनका दिन सफल हो जाता है. तो क्यों ना आप अपनी घर के सभी स्त्रियों के कार्यों की सराहना करते हुए उन्हें इस दिवस को मनाने का अवसर प्रदान करें.

अगर आप चाहते हैं कि आपके घर की गृहिणी हमेशा स्वस्थ और खुश रहे तो आप उनके कामों में हाथ भी जरूर बटा सकते हैं. साथ ही आप उन्हें किसी भी तरह से बातों को ना समझते हुए दोषी करार महसूस ना करवाएं. आप उनके लिए कॉफी बनाते हुए उनके दिन की अच्छी शुरुआत करवा सकते है. या फिर आप उन्हें रात की डिनर पर ले जाते हुए भी उनकी देखभाल कर सकते हैं और उन्हें अपनापन महसूस करवा सकते हैं.

आपकी पत्नियों के लिए आप हमेशा आभार व्यक्त करते हुए अपने जीवन को एक अच्छा आयाम दे सकते हैं. और साथ ही आप #housewifesday को टैग करते हुए इस दिवस को सोशल मीडिया पर भी मनाना के बारे में सोच विचार कर सकते हैं.

अगर हमारा गृहिणी दिवस (housewife’s day) पर लिखा हुआ लिखा आपको बहुत पसंद आया हो और साथ ही आपने अपने घर की गृहिणीयों को सम्मान देने की कसम खाई हो, तो हमें नीचे comment  section  में comment  करते हुए जरूर बताइएगा.


इस तरह के विविध लेखों के अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज ssoftgroup लाइक करे.


WhatsApp पर दैनिक अपडेट मिलने के लिए यहाँ Join WhatsApp पर क्लिक करे

Worth-to-Share
Sending
User Review
0 (0 votes)

Subscribe to Channel
Shayari Sukun
Follow us on Pinterest

Leave a Comment