15 Feb 2021: hippo day | हिप्पो दिन

hippo day

hippo day : आज 15 फरवरी के दिन हम सब hippo day | हिप्पो दिन मनाने जा रहे हैं. आपको पता होगा कि दुनिया में एक ऐसा स्तनधारी प्राणी होता है जो सभी जानवरों में तीसरा सबसे बड़ा होता है. और हम यह बात चाहते हैं कि इस दिवस पर आप ही को पता उसके बारे में अधिक जानकारी जरूर ले. ताकि आप दिवस पर इन महाकाय बड़े जानवर के बारे में और उसको बचाने के बारे में और अधिक उपाय योजना कर सकें.

जी हां हम हिप्पो की याने की दरियाई घोड़े की बात कर रहे हैं. आपको पता होगा कि दुनिया में इन हिप्पो से बड़े केवल दो ही सबसे बड़ा स्तनधारी प्राणी है. दुनिया में सबसे बड़ा पानी ब्लू व्हेल होता है. उसके बाद दूसरा बड़ा जानवर अफ्रीकी हाथी होता है. आपको पता होगा कि यह शब्द प्राचीन ग्रीक नदी के दरियाई घोड़ों को कहा जाता था.

और साथ ही आपको हम यह बात भी बताना चाहते हैं कि महाकाल विशाल जानवर का वजन 8000 पाउंड होता है. साथ ही हम देखते हैं कि 30 से अधिक देशों की कई तरह के मूलनिवासी रहते हैं. लेकिन यह भी बात की है कि हिप्पो दो तरह की प्रजातियां होती है. उनमें सामान्यतः दरियाई घोड़ा और प्याजी हिप्पो शामिल होते हैं.

hippo day ke bare me adhik jankari

hippo day | हिप्पो दिन पर हम आपको अधिक जानकारी बताना चाहते हैं. आपने दरियाई घोड़े को पास से देखने पर आपको उनकी त्वचा पर एक लाल तैलीय पदार्थ स्त्राव दिखेगा. यह दूसरा कुछ नहीं होता है धूप से बचाने के लिए यह उनके शरीर पर moisturizer जैसा काम करता है.

अगर आपको पता नहीं होगा तो हम आपको बताना चाहते हैं कि हिप्पो 16 घंटे तक पानी में डूबा रह सकता है. लेकिन उसे सांस लेने के लिए तो हर 5 मिनट के बाद पानी के बाहर आना ही पड़ता है. मां अपने बच्चों को पानी में ही जन्म देती है. और नवजात शिशु हिप्पो का वजन लगभग 100 पौण्डस तक हो सकता है. हर 2 साल बाद मां hippo एक शिशु को जन्म देती है.


आपको पता होगा कि जोर से भाग नहीं सकते लेकिन गई 19 मील प्रति घंटे की चाल जरूर चल सकते हैं. अगर आपको पता नहीं है तो यह बात जरूर याद रखी है कि यह तो सबसे आक्रामक जानवर होते हैं. यह जानवर 1 वर्ष में लगभग 500 मनुष्य को मारते हैं. लेकिन इसी के साथ हाइना मगरमच्छ और शेर इनकी शिकार कर ही सकते हैं.

hippo day ka itihas

hippo day | हिप्पो दिन पर हम इस दिवस की इतिहास के बारे में आपको बताना चाहते हैं. कई बार शिकारी हाथी के साथ साथ दरियाई घोड़े की भी दांत के लिए शिकार करते हैं. लेकिन आजकल हाथी या फिर दरियाई घोड़े के साथ-साथ किसी भी प्राणी की शिकार करने पर बंदी लाई गई है. आपको पता होगा कि यह दरियाई घोड़े कीचड़ में स्नान करना बहुत ज्यादा पसंद करते हैं.

लेकिन कई बार यह पर्यटकों के चिढाने की वजह से गुस्से में भी आकर अपने बड़े जबड़े की बड़े बड़े दांत दिखा देते हैं. देखा जाए तो तो हिप्पो दिन के निर्माण का कारण अभी ज्ञात नहीं है. लेकिन हम कह सकते हैं कि 1910 में रॉबर्ट ब्रूसेंड इन्होंने अमेरिका में हिप्पो बिल पेश किया था. लेकिन चाहे जो कुछ हो जाए हमें सबसे बड़े महाकाय जानवर को लुप्त प्राय होने से जरूर बचाना चाहिए.

hippo day kaise manaye

hippo day | हिप्पो दिन पर हम इसे कैसे मनाते हैं उसके बारे में देखेंगे. आप इस दिवस पर दरियाई घोड़े के सुरक्षा एवं उसके समर्थन की जागरूकता लोगों में बढाते हुए इस दिवस को मना सकते हैं. साथ ही आप इन पर एक अच्छी सी किताब या तो सिर्फ एक छोटा सा प्रबंध या फिर लेख भी लिखते हुए लोगों को इसके बारे में बता सकते हैं.

और अगर आपको लिखने का कोई शौक नहीं है तो आप हिप्पो पर लिखी अच्छी सी किताब भी पढ़ सकते हैं. और साथ ही अगर आपके आस पास कोई अच्छा सा वन्य जीव अभयारण्य है तो आप वहां पर जरूर जा सकते हैं. और अगर वहां पर आपको हिप्पो ना मिले अभी आप दूसरे प्राणियों के साथ अच्छे बर्ताव से पेश आ सकते हैं. क्योंकि आपको पता होना चाहिए कि कई सारे चिड़ियाघर इन अद्भुत जानवर की प्रजाति को बचाने के लिए बहुत कष्ट कर रहे हैं.

और साथ ही आप इंटरनेट पर भी इन्हें दरियाई घोड़ों के बारे में ज्यादा से ज्यादा सर्च करते हुए और मजेदार तथ्य खोजते हुए इस दिवस का आनंद ले सकते हैं. इसी के साथ अगर आप उसी से मिलने पर भी इस दिवस के बारे में जानकारी साझा करनी हो तो आप #hippoday को टैग करते हुए इस दिवस को मना सकते हैं.


हमारा यह हिप्पो दिन पर आधारित लेख अगर आपको पसंद आया हो और आपने भी इन हिप्पोज के बारे में जानकारी जुटाते हुए इसे मनाने का निश्चय कर लिया हो तो हमें नीचे कमेंट करेंगे कमेंट करके जरूर बताएं.


इस तरह के विविध लेखों के अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज ssoftgroup लाइक करे.


WhatsApp पर दैनिक अपडेट मिलने के लिए यहाँ Join WhatsApp पर क्लिक करे

hippo day

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *