15 Jan 2021: hat day | टोपी दिवस

hat day : नमस्ते दोस्तों, आज 15 जनवरी के दिन हम hat day | टोपी दिवस मनाने जा रहे है. आपने देखा होगा कि हर एक मौसम में हर एक चीज का आस्वाद आपको लेना बहुत पसंद होता है. और इसी वजह से आपको इस टोपी दिवस पर आश्चर्यजनक चीजों के साथ उन लड़कों को सलाम करना चाहिए जो हर वक्त टोपी पहनते हैं.

वैसे तो यह टोपी पहनने वाले लोग कुछ भी करने में खुद को सक्षम बना लेते हैं. साथ ही अपने जीवन में एक अलग प्रकार की सहेली का संगठन और वास्तव में इसके साथ जीने में यह लोग खुद को तैयार करते हैं. आपने सुना होगा कि टोपी अक्सर हमारे सिर का ही ठंडे और धूप से बचाव करती है. लेकिन कई बार बहुत से लोगों के लिए यह उनकी स्टाइल स्टेटमेंट भी बन जाती है.

अर्थात बहुत से लोग जब यह टोपी पहनते हैं तो उन्हें बाकी लोग उनकी टोपी की पहचान से ही पहचान लेते हैं. लेकिन फिर भी चाहे जो कुछ हो यह टोपी ही आपको और आपके व्यक्तित्व को संवारती है. इसी वजह से आपको पता होगा की टोपी दिवस पर आप के सबसे अच्छे और पसंदीदा हेडवेयर को मनाने के लिए यह बेहतरीन दिवस तैयार किया गया है.

चलिए अपनी बेहतरीन सी दिखने वाली टोपी सिर पहनी है और इस दिवस का जश्न मनाने के लिए तैयार हो जाइए. आपने कई तरह की टोपियों की फैशन देखी होगी. इसमें टोपी के साथ हैट और अन्य कई तरह की टोपियां भी शामिल होती है.

hat day ka itihas

आज टोपी दिवस पर हम आपके इस की इतिहास के बारे में अधिक जानकारी देने वाले हैं. आपने कई बार देखा होगा कि इस देश के इतिहास और उत्पत्ति के बारे में पूरी तरह से कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है. और इस दिवस के बारे में वर्ष के बारे में भी ऐसा कोई ठोस उल्लेख नहीं किया है जिससे हमें पता चले कि इसके इतिहास का जिक्र कहां है.

लेकिन फिर भी हमें इस दिवस की परंपरा एवं इसकी उत्पत्ति ओं के बारे में इतनी जानकारी जरूर मिल सकती है कि यह दिवस कई शताब्दियों पहले ही शुरू किया गया है. और इसी वजह से हम यह विचार जरूर कर सकते हैं कि इतिहास में भी ऐसे कई व्यक्ति हो चुके हैं जिन्हें टोपी पहनना बहुत ही पसंद था. और यह बात हमारे पुराने ऐतिहासिक अभिलेखों में भी सुनिश्चित की गई है.

अगर देखा जाए तो ईसा पूर्व के 3000 के बाद से ही टोपियो का अस्तित्व माना गया है. और यह भी देखा जा सकता है कि इन टोपियो को कई कारणों की वजह से पहना जाता था. उसमें से हम यह कह सकते हैं कि जैसे कई बार मौसम से बचने के लिए हो या फिर किसी विश्वविद्यालय के स्नातक की परीक्षाएं उत्तीर्ण हो.

और साथ ही देखा जाए तो धार्मिक कारणों के लिए भी या फिर फैशन के लिए भी औपचारिक रूप में टोपियां पहनी जाती थी. और यह भी बात बड़ी महत्वपूर्ण है कि पुरुषों के साथ-साथ स्त्रियां भी टोपिया पहनती थी. और शायद इसी वजह से टोपियो के उत्पादन एवं उनके इस्तेमाल के लिए और ज्यादा बढ़ावा दिया गया था.

hat day kaise manaye

आइए अब इस टोपी दिवस को किस तरह से मनाया जा सकता है इसके बारे में अधिक जानकारी ले. आपने यह भी देखा है कि मध्य युग में किस तरह से टोपिया इंसान की सामाजिक स्थिति की जानकारी देती थी. और साथ ही कई महिलाएं अपने सरल कार्य को लेकर भी बहुत उत्साही रहती थी. लेकिन इसके बाद में 19वीं शताब्दी में भी महिलाओं के अलग-अलग प्रकार के एवं रंग के फूल रिबन और ट्रीम से सजाई हुई तो क्योंकि बड़ी मांग थी.

और हम यह भी कर सकते हैं कि 21 वी शताब्दी के शुरुआत में भी पगड़ी जैसी टोपियो का बहुत ज्यादा बोलबाला रहा है. और साथ ही आपने देखा होगा कि कई वर्षों तक इन टोक्यो की सहेलियों में एवं उनके डिजाइन और आकृतियों में कई तरह से नए नए संशोधन किए गए हैं. और इसी वजह से टोपियों की अलग-अलग कलाकृतियों में कई प्रकार हमें उसे पहनने के लिए उत्साहित करते हैं.

और फिर आपको किस दिवस को मनाने के लिए क्या करना चाहिए? बस आप अपनी पसंदीदा रंगीन टोपी ले और अपने परिवार के सदस्यों के साथ दिनभर को भी पहन कर रहे. और साथ ही भी आप अपने आसपास के लोगों को भी इसे पहनने के लिए प्रोत्साहित कर सकते हैं. यदि आपको पुरानी टोपिया जमा करते हुए इनके प्रदर्शन करने का शौक हो तो आप अपने आसपास के पड़ोसियों को इसे दिखा सकते हो.

साथ ही अगर यह कलेक्शन आप अपने दोस्त एवं सोशल मीडिया पर भी साझा करना चाहते हो तो आप #hatday को टैग करते हुए उनकी तस्वीरें जरूर साझा करें.

हमारा यह टोपी दिवस पर आधारित लेख अगर आपको बहुत पसंद आया हो और साथ ही आपने भी एक अच्छी सी टोपी लेने का निश्चय कर लिया हो, तो हमें नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करते हुए बताना ना भूलिएगा.


इस तरह के विविध लेखों के अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज ssoftgroup लाइक करे.


WhatsApp पर दैनिक अपडेट मिलने के लिए यहाँ Join WhatsApp पर क्लिक करे

hat day

Leave a Comment