Press "Enter" to skip to content

14 Sept: gobstopper day | गोबस्टोपर दिवस

gobstopper day : दोस्तों आज 14 सितंबर के दिन हम गोबस्टोपर दिवस मनाने जा रहे हैं. तो आइए इस दिवस की जानकारी लें.  गोबस्टोपर अर्थात एक गोब से भरी कैंडी होती है. गोब अर्थात अंग्रेजी / आयरिश शब्द का अर्थ होता है हमारा मुख. अर्थात जिसे हम अपने मुंह को चमकाने के लिए खाई गई कैंडी कह सकते हैं.

एक ऐसी चीज होती है, जो बचपन में हर एक बच्चे की पसंदीदा चीज होती है. और अगर उसे उसके सामने लाया जाए, तो वह खाने से कभी इंकार नहीं करेगा. इस कैंडी को किसी भी तरह की महक हो सकती है. चाहे वह एप्पल की हो या संतरे की फ्लेवर हो. हर बच्चे को यह फ्लेवर की महक अपनी तरफ खींचती है. उसे लोग आती है और खाने के लिए ललचाती है.

वैसे देखा जाए तो कई बच्चों के लिए गोबस्टॉपर कैंडी उनके बचपन के बीकन में से एक हो सकती है. प्रथम और द्वितीय विश्व युद्ध के बाद अमरीका और ब्रिटेन में यह सबसे लोकप्रिय केंद्र बनकर उभर कर आई थी. गोबस्टोपर दिवस पर हम इन कैंडिस और उनके द्वारा बच्चों की पीढ़ियों को ही साझा किए गए इतिहास इन दोनों चीजों का जश्न मनाता है.

gobstopper day ke bare me interesting facts 

–   गोबस्टोपर दिवस पर हमें उच्चारण करने की कोशिश से परिभाषित शब्द को जॉब्रेकर अर्थात जबड़ा तोड़ने वाली कैंडी कैसे बन गई.

–   क्या आपने कभी सोचा है कि हार्ड कैंडी कौर के दातों के नीचे दबने से दाँतो को क्षति भी पोहोच सकती है. इसीलिए इसका नाम निश्चित रूप से जॉब्रेकर कैंडी रखा गया है.

–   जॉब्रेकर कैंडी अर्थात गोबस्टॉपर कैंडी सौ प्रतिशत चीनी से बनी हुई होती है. और उसे 14 से 19 दिनों तक उच्च तापमान पर गर्म पेन प्रक्रिया के बाद पकाया जाता है.

–   इस समय के दौरान चीनी का मंथन किया जाता है. जब तक गोबस्टॉपर के लिए आकार नहीं बन जाता. इसका मतलब यही होता है कि वह चाटने के लिए सही होते हैं. लेकिन दातों से तोड़ने के लिए अच्छा नहीं होता.

gobstopper day  ka itihas

गोबस्टोपर दिवस पर हम कई दर्शकों से लोगों के बचपन में झांक कर देख सकते हैं. स्वादिष्ट कैंडिस को बनाने में एक प्रभावशाली समय लग सकता है. क्योंकि जिस पथ एक स्वादिष्ट कैंडी को बनाने के लिए व्यक्तिगत रूप से स्वाद वाली परत बनानी पड़ती है.

साथ ही इसके माध्यम से सप्ताह की श्रंखला में कैंडी जमा करनी पड़ती है. एक पैन में इन कैंडिस को घुमाया जाता है. जहां इसे अपना रंग रूप मिलता है. इस प्रक्रिया को हॉट पैनिंग कहां जाता है. गोबस्टोपर कैंडिस के निर्माण के लिए तकनीकों के परिणाम स्वरूप विशेष समूह में बनाई जाती है.

जो एक कम रेट की मीनिंग के लिए गोबस्टोपर को प्रस्तुत कर सकता है. इसमें विभिन्न परतों के अलग-अलग दरों पर गर्म किया जा सकता है. और इसी के परिणामस्वरूप इस कैंडी की आंतरिक परते पिघली हुई होती है. लेकिन बाहरी परतें बहुत ठोस स्वरूप में होती है. इस प्रक्रिया से एक आंतरिक दबाव पैदा होता है.

इसमें अंतर बहुत ज्यादा हो सकता है. इसी के परिणामस्वरूप कैंडी की पॉपिंग खुल सकती है. और मौजूदा डिजाइन में इनके प्रभाव के कारण कम करने के लिए इसकी बहुत मदद की गई है. बड़े लोग इस गोबस्टोपर दिवस की हफ्तों और महीनों भर से ही प्रतीक्षा करते रहते हैं.

क्योंकि वह गोबस्टोपर दिवस आपको अपने बचपन के दिनों की रहस्यमई घटनाओं को भी आपके नजरों के सामने लाने का एक बहाना देता है. जिससे आपको अपने जीवन में जरूरत होती है और आप इस बात से ही खुश रह सकते हो.

gobstopper day kaise manaye

गोबस्टोपर दिवस मनाने की वैसे से तो तरीके अलग-अलग हो सकते हैं. लेकिन अच्छा तरीका तो यही है ना कि आप अपनी पसंदीदा गोबस्टोपर कैंडी लेकर उसे मुंह में रख ले. ताकि आपके बचपन के पसंदीदा स्वाद और महक को आप फिर एक बार महसूस कर सकेंगे.

हम आपको इसे जोर से चबाने के लिए प्रोत्साहित नहीं कर रहे हैं. क्योंकि आप उसे नहीं जानते कि यह कितनी ठोस और कठिन हो सकती है. जब तक इसकी एक पर एक जमी हुई परतें फीकी नहीं पड़ती, तब तक इसी अलग-अलग फ्लेवर का आप मजा भी ले सकते हैं.

हमारा गोबस्टॉपर दिवस पर आधारित यह लेख आपको अगर पसंद आया हो और साथ ही आपको और साथ ही आपको कैंडी खाने की इच्छा हो रही हो, तो हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करते हुए जरूर बताइएगा दोस्तों!


इस तरह के विविध लेखों के अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज ssoftgroup लाइक करे.


WhatsApp पर दैनिक अपडेट मिलने के लिए यहाँ Join WhatsApp पर क्लिक करे

Worth-to-Share

One Comment

  1. यतीश यतीश

    वाह सचमें बचपन के कैंडी चॉकलेट्स की याद दिला दी आपने👌👌

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *