Press "Enter" to skip to content

8 Jan 2021: earths rotation day | पृथ्वी का रोटेशन दिवस

earths rotation day : नमस्ते दोस्तों आज 8 जनवरी के दिन हम earths rotation day | पृथ्वी का रोटेशन दिवस मनाने जा रहे हैं. जैसा कि आपको पता ही होगा कि पृथ्वी को खुद के दूरी पर एक घूर्णन करने के लिए 24 घंटे लगते हैं. क्योंकि आपको पता होगा कि यह तो हम स्कूल में ही हमारे जियोग्राफी के लिए विषय में सीख चुके थे.

लेकिन शायद आप मुझसे ऐसे भी कई लोग होंगे जो यह बात शायद नहीं जानते होंगे. लेकिन हम आज पृथ्वी के घूर्णन के बारे में पृथ्वी के घूर्णन दिवस पर आपको सारी जानकारी देना चाहते हैं. और हम आशा करते हैं कि आपको यह जानकारी बहुत पसंद आएगी. और शायद यह बात थी आपने कही सुनी होगी कि पृथ्वी के घूमने की गति में साल दर साल थोड़े से बदलाव जरूर हो रहे हैं.

और इसी वजह से हम जो पूरा एक दिवस 24 घंटे का मानते हैं वह दरअसल 24 घंटे से थोड़ा ज्यादा होता है. और इसी तरह से एक साल में भी 365 दिन से थोड़ा ज्यादा समय होता है. तो आइए अब इस दिवस के इतिहास के बारे में हम अधिक जानकारी लें.

earths rotation day ka itihas

पृथ्वी का रोटेशन दिवस (earths rotation day) पर हम आपको इस दिवस के इतिहास के बारे में बताना चाहते हैं. इस दिवस को फ्रांसीसी भौतिक विज्ञानी ल्योन फौकॉल्ट ने 1851 में बनाया था. इन्होंने पृथ्वी के घूमने की तरह और इसके बारे में अधिक जानकारी बताने के लिए प्रयोग किया था. उन्होंने सीसे से भरी पीतल की गेंद को लटकाया था.

बाद में इसे ही फौकॉल्ट पेंडुलम कहा जाने लगा. उन्होंने बताया कि यह पेंडुलम विमान में पृथ्वी के घूमने के सापेक्ष घूमता है. उनकी इस शोध की वजह से आज है यह पेंडुलम दुनिया के हर जगह में पाया जाता है. आइज़क न्यूटन ने भी गुरुत्वाकर्षण का शोध को जरूर लगाया था लेकिन उसके कारण के बारे में वह नहीं बता सके थे.

दरअसल गुरुत्वाकर्षण के कारण ही पृथ्वी अपनी धुरी पर घूमती है. और यह बात फौकॉल्ट के पेंडुलम ने सिद्ध की है. इस तरीके से आपको पता होगा कि पुकार ने अपने सार्वजनिक प्रदर्शन का सम्मान करते हुए हमें एक ऐसा अवसर दिया है जिसे हम वर्षगांठ पर मनाते हैं.

earth’s rotation day kaise manaye

पृथ्वी का रोटेशन दिवस (earths rotation day) पर हम आपको बताना चाहते हैं कि इसे कैसे मनाया जाता है. आपने देखा होगा कि पृथ्वी हर दिन अपने ही अक्ष पर घूमती रहती है. और इसी वजह से अगर आपको यह वास्तविक जीवन में बनाना होगा तो आप अपने आसपास के किसी भी विज्ञान संग्रहालय में जा सकते हैं.

वहां पर आपको फौकॉल्ट पेंडुलम को काम देखने के लिए मिल जाए तो आपके लिए वह बहुत ही गर्व की बात होगी. किस वजह से आपको वास्तव में इस पर कार्यवाही करने के लिए काफी दिलचस्पी होगी किसी वजह से आपको औरतों में इस पर कारवाई करने के लिए काफी दिलचस्पी होगी.और यह दिवस पृथ्वी पर मनाया जाने वाला सबसे महत्वपूर्ण दिनों में से एक हो सकता है. और साथ ही आपको इस देश के इतिहास के बारे में भी अधिक जानकारी देनी चाहिए.

हम इस ब्रह्मांड में पृथ्वी पर किस तरह से सभी चीजों को देखते हैं और उसके बारे में कैसे जानते हैं. इतिहास में ऐसा भी एक समय था जब यह व्यापक रूप से माना जाता था कि पृथ्वी ही ब्रह्मांड का केंद्र है और सारे ग्रह इसकी आसपास घूमते हैं. लेकिन बाद में सभी लोगों को यह बात पता चली कि यह सिर्फ मानना था वास्तव में ऐसा नहीं था.

और इसी तरह से हमें इस दिवस पर उसी के सम्मान करते हुए इसके बारे में अधिक जानकारी जरूर लेनी चाहिए. साथ ही आप अगर सोशल मीडिया पर इस दिवस को मनाना चाहते हैं तो आप #earth’srotationday पर टैग करते हुए इसे जरूर मनाये.

हमारा यह पृथ्वी का रोटेशन दिवस (earths rotation day) पर आधारित लेख अगर आपको पसंद आया हो और साथ ही आपने इस दिवस के बारे में अधिक जानकारी लेकर लोगों को बताई हो, तो हमें नीचे कमेंट बॉक्स में काम करते हुए जरूर बताएं.


इस तरह के विविध लेखों के अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज ssoftgroup लाइक करे.


WhatsApp पर दैनिक अपडेट मिलने के लिए यहाँ Join WhatsApp पर क्लिक करे

earths rotation day

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *