Press "Enter" to skip to content

१४ अप्रैल: डॉल्फिन दिवस (Dolphin Day) दिनविशेष

डॉल्फिन ही एक ऐसा समुद्री जीव या मछली है जो समुद्र में रहकर भी मनुष्य से दोस्ती करते हैं और निभाते भी हैं.
डॉल्फिन को देखते ही हमें एक सुकून मिलता है, क्योंकि वे हमेशा ही हमें खुशी से देखती हुई नजर आती है. यह ऊर्जावान और चंचल जीव न सिर्फ हमें खुशी और सुकून देता है, बल्कि हमारी पूरी सागरी इकोसिस्टम यानी समुद्री जीवन की भी रक्षा करने में मदद करता है जो हमारे समुद्र के पानी के नीचे हैं.

डॉल्फिन दिवस पर हमेंं इन्हीं डॉल्फिन को पूरी तरह जानना और उनके साथ दोस्ती करते हुए लोगों को यह समझाना है कि इन महासागरों की रक्षा डॉल्फिन किस तरह करते हैं, ताकि पूरा जल जीवन अच्छी अच्छी तरह से काम करता रहे. आइए हम भी इस डॉल्फिन को समझ कर यह दिवस मनाएं और इन को समर्पित करें.

डॉल्फिन दिवस का महत्व

देखा जाए तो AVMA के पालतू पशु स्वास्थ्य जागरूकता कार्यक्रमों के तहत डॉल्फ़िन समुद्री जीवन के खाद्य श्रृंखला के शीर्ष स्थल पर मौजूद है और हमेशा समुद्री जीवन का संतुलन बनाए रखने में अपना पूरा सहयोग देती है. क्या आप जानते हैं, समुद्री जीवविज्ञान को और समुद्री स्वास्थ्य को हमेशा बनाए रखने में मदद करने वाले डॉल्फ़िन की 40 से अधिक प्रजातियां है?
डॉल्फिन दांतेदार व्हेल प्रजाति का सदस्य होता है, जिसमें ऑर्कास और पायलट व्हेल भी शामिल हैं. यह अत्यंत बुद्धिमान प्राणी होता है, जिस वजह से यह इंसान की सारे हाव भावों को जल्द ही सीख जाता है और उनके कहे अनुसार पानी में अलग अलग करतब भी दिखा सकता है. यह स्तनधारी होने के कारण अपने बच्चों को जन्म देता है और दूध पिलाता है.

डॉल्फ़िन अपने शिकार का पता लगाने के लिए और अपने साथी डॉल्फ़िन को आवाज देने के लिए सोनार सिस्टम का उपयोग करती है. यह अपने शरीर को शीतलता और गर्मी देने के लिए ब्लबर का उपयोग करती है.
डॉल्फ़िन की सभी प्रजातियों में बॉटलनोज डॉल्फ़िन प्रसिद्ध है. साथ ही कुछ ताजे पानी में रहने वाली भी डॉल्फ़िन होती है जैसे कि अमेजॉन नदी में पाए जाने वाली डॉल्फ़िन. भारत में भी कुछ डॉल्फिन प्रजाति गंगा नदी और सिंधु नदी में पाई जाती है जो मुख्य रूप से जंगलों की नदियों के क्षेत्र में रहती है.

यद्यपि डॉल्फिन मनुष्य के सारे हावभाव तुरंत सीख लेती है लेकिन पशुओं के साम्राज्य में डॉल्फिन की भाषा को सबसे जटिल भाषा माना जाता है.

डॉल्फिन दिवस कैसे मनाएं

डॉल्फिन केे व्यवहार के बारे में लोगों को शिक्षित करना और इनके लिए लोगों के दिलों में प्यार फैलाना ही डॉल्फिन दिवस मनाने का सबसे अच्छा तरीका है. इनसे दोस्ती करने के लिए आप उष्णकटिबंधीय देशों में भी जा सकते हैं या फिर किसी प्रसिद्ध देश के समुद्र किनारे जहां ये बड़ी तादाद में पाई जाती है.

मनुष्य को अपने व्यवहार में अच्छी समझ प्रदान करने में डॉल्फिन का बहुत महत्व है यद्यपि वे एक दूसरे से बहुत अलग दिखते हैं या अलग अलग व्यवहार प्रदर्शित करते हैं फिर भी वे मनुष्य को सामाजिक और मैत्रीपूर्ण व्यवहार की याद दिलाते हैं.

इस शानदार जीव को जानने की कोशिश करते हुए और इनकी प्रजातियों की तुलना करके इनको समझते हुए आप अच्छी तरह से डॉल्फिन दिवस मना सकते हैं. यदि आपका कोई दोस्त या फिर कोई ऐसी व्यक्ति जो डॉल्फिन की भाषा समझने में रुचि रखता हो और उनसे प्यार करता हो ऐसे व्यक्ति के साथ आप एक डॉल्फिन थीम वाली पार्टी रखकर भी आनंद मना सकते हैं. आप अपने पसंदीदा दोस्त के साथ समुद्री यात्रा का आयोजन करके भी इस दिवस को बड़े आनंद के साथ मना सकते हैं. आपकी दोस्त एवं परिवार के साथ इस शानदार जीव के बारे में जानकारी साझा करके आप इन जीवो का आनंद ले सकते हैं.

आप इन समुद्र विज्ञान और इकोसिस्टम को जिंदा रखने वाले जीव की और साथ ही पूरे समुद्री जीवन की मदद करने के लिए किसी गैर लाभकारी संगठन ही आने की एनजीओ को भी अपना समय और पैसा देकर उनका समर्थन कर सकते हैं.

आशा है आप भी हमारी पूरी इकोसिस्टम में डॉल्फिन के महत्व को समझ कर उनकी मदद करने के लिए हमेशा तैयार रहेंगे.

हमारा यह दिनविशेष पर आधारित लेख पूरा पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद! हम आपके लिए रोज ऐसही अच्छे लेख लेकर आते है. अगर आपको यह लेख पसंद आता है तो फेसबुक और व्हाट्सएप पर अपने दोस्तों को इसे फॉरवर्ड करना ना भूले. साथ ही हमारी वेबसाइट को रोजाना भेंट दे.

Worth-to-Share

इस तरह के विविध लेखों के अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज ssoftgroup लाइक करे.
WhatsApp पर दैनिक अपडेट मिलने के लिए यहाँ Join WhatsApp पर क्लिक करे


Comments are closed.