1 July: doctor’s divas | डॉक्टर्स दिवस Dinvishesh

doctor’s divas : डॉक्टर! इन्हें हमारे देश में भगवान जैसा दर्जा दिया जाता है. इनके कारण ही जब हम बीमार पड़ते है तो हमें दूसरी जिंदगी मिलती है. जब भी हम कभी बीमार होते हैं, तो हमें बस डॉक्टर की ही याद आती है और यह बात अच्छे कारण के बिना नहीं होती. हालांकि अगर हम आज के बारे में बात कर रहे हैं तो जो डॉक्टर है उन्हें नैतिक रूप से ही देखा जाना चाहिए. 

कई ऐसे डॉक्टर्स होते हैं, जो उनके पैसों के सही मूल्य को समझते हैं जिसे उन्होंने चुना हुआ है. डॉक्टर्स दिवस ऐसे ही डॉक्टरों को धन्यवाद देने के लिए मनाया जाता है. 

doctor’s divas ka itihas

भारत में हर साल 1 जुलाई डॉक्टर्स दिवस के रूप में मनाया जाता है. यह दिवस doctors को उन मूल्यों के बारे में जोर देने के लिए मनाया जाता है. जो डॉक्टर लोग हमारे जीवन के लिए हमें देते हैं और इस दिन का अर्थ उन्हें अपनी निस्वार्थ सेवा के लिए सम्मान देना ही होता है. 

यह दिवस सिर्फ डॉक्टर्स ही नहीं बल्कि चिकित्सा उद्योग और उसके उन्नति के लिए जो भी लोग काम करते हैं उन सभी के लिए मनाया जाता है. प्रौद्योगिकी अर्थात technology के माध्यम से लोगों के जीवन को बेहतर बनाने के लिए डॉक्टरों के प्रयास में भारत अथक परिश्रम कर रहा है और यह दिन उनकी उपलब्धियों को चिन्हित करने के लिए ही मनाया जाता है.

doctor’s divas 1 july ko hi kyon manaya jata hai

वैसे देखा जाए तो तथ्य के रूप में दुनिया भर के विभिन्न देशों में अलग-अलग तिथियों पर डॉक्टर दिवस मनाया जाता है.भारत में यह 1 जुलाई को मनाया जाता है, क्योंकि 1 जुलाई को ही भारत के प्रसिद्ध चिकित्सकों में से एक डॉ. बिधान चंद्र रॉय (dr. B.C.Roy) की जन्म और पुण्य तिथि होती है.

भारत सरकार द्वारा इस महान चिकित्सक के सम्मान के लिए वर्ष 1991 से 1 जुलाई के दिन डॉक्टर दिवस मनाना शुरू किया गया.

doctor’s divas ke bare me rochak tathya

–  अन्य देशों में यह दिन अलग-अलग दिनों पर मनाया जाता है. जैसे कि ब्राजील में यह दिवस 18 अक्टूबर को मनाया जाता है. जबकि अमेरिका में यह दिवस 30 मार्च को मनाया जाता है.

–   डॉक्टर दिवस का प्रतीक लाल कार्नेशन का फूल होता है. क्योंकि यह फूल प्यार, दान, निस्वार्थता और बलिदान का प्रतीक होता है. यह बताता है कि डॉक्टर को इसे धारण करना चाहिए.

–  अमेरिकी राज्य में पहली बार 30 मार्च 1933 में डॉक्टर्स दिवस मनाया गया था. इस दिन चिकित्सकों को कार्ड भेजा गया था और मृत डॉक्टरों की कब्रों पर फूल चढ़ाए गए थे.

तो दोस्तों, हमें आशा है कि 1 जुलाई के इस रोमांचकारी दिवस पर आप भी doctor’s divas मनाते हुए हमारी तबीयत की दिल से पूछताछ करने वाले और हमारे सेहत की सबसे ज्यादा चिंता करने वाले डॉक्टर लोगों के लिए आप जरूर एहसानमंद होकर उन्हें दिल से धन्यवाद देंगे!


इस तरह के विविध लेखों के अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज ssoftgroup लाइक करे.


WhatsApp पर दैनिक अपडेट मिलने के लिए यहाँ Join WhatsApp पर क्लिक करे

Worth-to-Share