Press "Enter" to skip to content

आत्मविश्वास ही सफलता की निशानी है (Hindi Story)

आज हम एक नई कहानी पढ़ेंगे आत्मविश्वास के बारे में..

एक खगोल वैज्ञानिक ने दूरदर्शक यंत्र की सहायता से सूरज का निरीक्षण किया. उस निरीक्षण कि माध्यम से इस बात का पता चला की, सूरज पर एक जीव है जो काफी बड़ा है. वैज्ञानिक को ऐसा लगा कि उसने बहुत बड़ी खोज की है.

इस बात से उत्साहित होकर उसने लोगों कि भीड़ को इकट्ठा करना शुरू किया और लोगों को बताने लगा कि, “सूरज एक गर्म तारा होने के बावजूद उसपर एक जिंदा जीव रह सकता है”. हम सबको अब डरकर रहना होगा, वो जीव अगर पृथ्वी पर आ गया तो हमारा क्या होगा? ये आप खुद सोच सकते हो. वैज्ञानिक की इस बात पर लोगों को भरोसा हुआ.

Status-Shayri-Questions-min

उन सब में से कुछ लोगों ने उस वैज्ञानिक का आदर सत्कार करने का निर्णय लिया. उन्हीं लोगों में एक व्यक्ति ऐसा भी था, जो चिकित्सक था. उस व्यक्ति ने वैज्ञानिक के दूरदर्शक को परखने के लिए हाथ में लिया. हाथ में दूरदर्शक लेते ही एक बात उस व्यक्ति के ध्यान में आ गई. सूरज पर कोई भी जीव नहीं है बल्कि वैज्ञानिक जिसे सूरज पर एक जीव समझ रहा है, वो कोई जीव नहीं बल्कि दूरदर्शक की कांच पर बैठी एक मक्खी है. सूरज की और देखने के बाद मानो उस पर कोई जीव रहता हो ऐसा महसूस हो रहा था.

चिकित्सक व्यक्ति की यह बात सुनते ही लोगों को वैज्ञानिक की मूर्खता का पता चल गया और सभी लोग उस वैज्ञानिक पर हंसने लगे.

आत्मविश्वास तात्पर्य:- जो लोग मूर्खतापूर्ण और उतावले होकर बेछूट वक्तव्य करते है, आगे-पीछे का विचार न करते हुए बोलते रहते है, ऐसे लोग कभी ना कभी मुंह के बल गिरते ही है. उनकी हार निश्चित होती है.