Press "Enter" to skip to content

अनुभव से मिला ज्ञान (Knowledge comes from experience)

दोस्तों, इस कहानी में हम ये देखेंगे की अनुभव से मिला ज्ञान कितना महत्वपूर्ण साबित होता है..

हिन्दुस्थान में लद्दाख जिल्हे में एक सरस्वती विद्या मंदिर नाम की पाठशाला थी. वह एक आदर्श पाठशाला थी जो बच्चो पर अच्छे संस्कार करती थी. इस पाठशाला में चौथी कक्षा में एक प्राध्यापक गणित पढ़ाते थे! घटाने के उदहारण पढ़ाने के बाद प्राध्यापक ने बच्चोसे सवाल किया के, अगर हमने दस भेड़ कैद कर के रखी है, उनमेसे एक भेड़ बाहर गई तो कितनी भेड़ बची?

जिन्हे भी इस सवाल का जवाब आता है, वह हाथ खड़े कर अपनी जगह पर बैठे रहे. प्राध्यापक ने जब सम्पूर्ण कक्षा में नजर घुमाई तब उन्होंने देखा की कभी भी हाथ ऊपर न करनेवाले शंकर ने हाथ ऊपर किया हुआ था. शंकर गणित विषय में बहुत ही कमजोर था. इसी वजह से शंकर का हाथ खड़ा देखकर प्राध्यापक भौच्चक्के हो गए.

Status-Shayri-Questions-min

इतना ही नहीं वह हाथ जोर जोर से हिला रहा था. प्राध्यापक ने जब उसे ईशारा कर पूछा तो वह बोला की “प्राध्यापक एक भी नहीं बचेगी”, प्राध्यापक बोले की शंकर तुम्हे इतने आसान सवाल का जवाब नहीं आता, दस में से एक भेड़ गई इसका मतलब दस में से एक घटा दिया जाये, यह एक साधारण सा घटाने का उदहारण है. फिर भी तुम दस में से एक भेड़ गई तो एक भी नहीं बचेगी ऐसा कैसे बोल रहे हो?

उस बात पर शंकर बोला, प्राध्यापक आपको मुझसे ज्यादा गणित का अनुभव होगा लेकिन मुझे भेड़ का है. मेरे घर पे बहुत सारी भेड़े है. अगर एक भेड़ बाहर गई तो बाकि भी उनकी नक़ल करते हुए एक के पीछे एक सब बाहर चली जायेंगी. ऐसा मैने बहुत बार देखा है. भेड़ो का ये बर्ताव मुझे नया नहीं है. मै उन्हें हर रोज देखता हूँ, निहारता हूँ. इसलिए मैंने जो सच में होता है, वही जवाब दिया है. मेरे हिसाब से मैंने दिया हुआ जवाब सही है.

निष्कर्ष- अनुभव से मिला हुआ ज्ञान ही सर्व श्रेष्ठ ज्ञान होता है.

💬 अनुवादक
भुषाली तायडे
ओक्यानुस एक्वा टेक प्रा. लिमिटेड