बँक के चेक पर जो अंक अंकित किए जाते है. उनका अर्थ क्या है?

bank_cheque

बँक का चेक हमारे लिए नया नहीं है. बँक के चेक पर बहूत सारी बातें छपी हुई हमें दिखाई देती है.
चेक के निचले हिस्से में कुछ अंक विशेष रुप से अंकित किए जाते है. वह सिर्फ अंक नहीं होते वह बहूत सारी जानकारी के रुप में चेक पर अंकित किए जाते है.

चेक के निचले हिस्से में लगभग २३ अंक अंकित किए जाते है.

उसका अर्थ क्या है यह समझना बेहद जरुरी होता है.
cheque पर अकाऊंट नंबर, खातेदार व्यक्तिका अथवा करंट अकाउंट का पुरा नाम, तारीख यह सब विशेष रुप से होता है.

चेकपर २३ अंक चार भागों में लिखे हुए दिखाई देते है. पहले भाग में ६, दुसरे भाग में ९, तिसरे भाग में ६, चौथे भाग में २ ऐसा उसे विभाजीत किया जाता है.
नये इलेक्ट्रोनिक cheque में तिसरे भाग में आगे के छह अंक दिखाई देते है. पुराने चेकबुकपर हमें वह दिखाई नहीं देते. इन आंकडों का चौथा भाग ट्रान्झॅक्शन आयडी रहता है.

अंतीम २९, ३०, ३१ नंबर अॅट पार और ०९, १०, ११ यह अंक चेक लोकल है इसकी जानकारी देते है.

इसके अलावा एमआयआरसी कोड चेकबुकपर अंकित किया हुआ रहता है.
दुसरे भाग में ९ अंक अंकित होते है. उस अंक के द्वारा चेक कौन से बँक से जारी किया गया है? यह चेक रिडींग मशीन के द्वारा बँक के कर्मचारी को पता चलता है.
यह अंक तीन भागों में विभाजीत किया हुआ हमें दिखता है.
पहला सिटी कोड इसके द्वारा शहर के नाम का पता चलता है, दुसरा बँक कोड हर बँक के लिए यह कोड अलग रहता है.
यह नंबर युनिक रहता है.

तिसरा हिस्सा ब्राँच कोड रहता है. बँक से संबंधित सभी प्रकार के व्यवहारों में इसका बखुबी इस्तमाल किया जाता है. मतलब की एक Cheque के द्वारा आपका नाम, अकाऊंट नंबर, इसके अलावा शहर, बँक, ब्रांच, यह सभी जानकारी मिलती है.

हम आशा करते है की आपको बैंक चेक के बारे में बुनियादी तौर पर जानकारी प्रदान कर पाए है.

-योगेश बेलोकार
एस सॉफ्ट ग्रुप इंडिया